चीन की दादागिरी होगी दादागिरी कम अमेरिक ब्रिटेन और ऑस्ट्रेलिया का नया गठजोड़ – Daily Kiran
Thursday , 28 October 2021

चीन की दादागिरी होगी दादागिरी कम अमेरिक ब्रिटेन और ऑस्ट्रेलिया का नया गठजोड़

नई दिल्ली (New Delhi) . ब्रिटेन, अमेरिका और ऑस्ट्रेलिया ने हिंद प्रशांत क्षेत्र में चीन की दादागिरी कम करने और उसकी घेराबंदी के लिए नया त्रिपक्षीय सुरक्षा गठबंधन ऑकस (एयूकेयूएस) की घोषणा की है. भले ही इन तीन देशों के इस नए गठजोड़ में भारत नहीं है, मगर ऑकस का ऐलान एक ओर जहां भारत के लिए गुड न्यूज है तो चीन के लिए खतरे की घंटी. वैश्विक सुरक्षा संबंधी घटनाक्रमों को देखते हुए भारत के आशावान होने की सबसे बड़ी वजह है कि इस नए त्रिपक्षीय सुरक्षा गठजोड़ से चीन की दादागिरी कम करने में मदद मिलेगी और हिन्द-प्रशांत क्षेत्र में संतुलन कायम हो सकेगा. ऑकस से ये देश अपने साझा हितों की रक्षा कर सकेंगे और परमाणु ऊर्जा से संचालित पनडुब्बियां हासिल करने में ऑस्ट्रेलिया की मदद करने समेत रक्षा क्षमताओं को बेहतर तरीके से साझा कर सकेंगे. इस गठबंधन के तहत तीनों राष्ट्र संयुक्त क्षमताओं के विकास करने, प्रौद्योगिकी को साझा करने, सुरक्षा के गहन एकीकरण को बढ़ावा देने और रक्षा संबंधित विज्ञान, प्रौद्योगिकी, औद्योगिक केंद्रों और आपूर्ति शृंखलाओं को मजबूत करने पर सहमत हुए. टीओआई के मुताबिक, सुरक्षा त्रिपक्षीय गठबंधन यानी कि ऑकस एक तरह से चीन को कड़ा संदेश होगा. यह मुख्य रूप से हिंद प्रशांत क्षेत्र में ऑस्ट्रेलिया की क्षमताओं में इजाफा करेगा और क्षेत्र में ड्रैगन को काबू में रखने में वैश्विक प्रयासों में मददगार साबित होगा.

ऑकस ऑस्ट्रेलिया की रक्षा क्षमताओं को बढ़ाएगा, जो इंडो-पैसिफिक (हिंद-प्रशांत क्षेत्र) में भारत के करीबी रणनीतिक साझेदारों में से एक बन गया है. दूसरी बात यह कि नए त्रिपक्षीय गठबंधन से क्वाड की क्षमताओं में वृद्धि होने की संभावना है, जिसमें अमेरिका और ऑस्ट्रेलिया दोनों सदस्य हैं. ऑकस के तहत ऑस्ट्रेलिया को परमाणु पनडुब्बियों की ताकत मिलेगी. क्वाड एक सुरक्षा समूह नहीं है, इसलिए यह ऑकस क्वाड में सुरक्षा एंगल जोड़ता है. फिलहाल, क्वाड और ऑकस समानांतर ट्रैक पर चलेंगे, मगर ऐसी संभावना है कि भविष्य में ये दोनों मर्ज हो जाएंगे. इस तरह से भविष्य में भारत इस ग्रूप का सदस्य हो जाएगा और फिर चीन को घेरने में भारत भी बड़ी भूमिका निभा सकता है. यहां बताना जरूरी है कि क्वाड महज एक कूटनीतिक कवायद का मंच है. क्वाड का अर्थ ‘क्वाड्रीलेटरल सिक्योरिटी डायलॉग’ है, इसके अंतर्गत चार देश भारत, जापान, ऑस्ट्रेलिया और अमेरिका आते हैं.

Please share this news

Check Also

मल्टी मिलियनेयर होटल व्यवसायी विवेक चड्ढा की लंदन में मौत

लंदन . मल्टी मिलियन डॉलर (Dollar) नाइन ग्रुप के प्रमुख 33 वर्षीय युवा होटल (Hotel) …