मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का कोरोने से लडऩे का नया प्लान

भोपाल (Bhopal) . मप्र में कोरोना मुक्ति अभियान को लेकर सरकार अब युवा शक्ति की मदद ले रही है. प्रदेश के 10 लाख से ज्यादा स्टूडेंट कोरोना मुक्ति अभियान में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएंगे. युवा महामारी (Epidemic) के बाद बदलते माहौल में लोगों को कोविड अनुरूप व्यवहार, दिनचर्या और वैक्सीनेशन को लेकर जागरूक करेंगे. जानकारी के मुताबिक, युवा शक्ति कोरोना मुक्त अभियान में युवा मैंने वैक्सीन लगवाया है, आप भी वैक्सीन लगवाएं तथा स्वयं एवं परिवार को कोरोना से सुरक्षित करें इस नारे के साथ जनता को जागरूक करेंगे. सरकार ने इसकी तैयारी कर ली है.

उच्च शिक्षा मंत्री मोहन यादव ने बताया कि प्रदेश में युवा शक्ति कोरोना मुक्ति अभियान चलाया जा रहा है. इसके तहत शिक्षा एवं तकनीकी शिक्षा विभाग के शासकीय महाविद्यालयों एवं विश्वविद्यालयों में पढ़ रहे छात्र-छात्राएं लोगों को जागरूक करने में सहयोग करेंगे. कोविड अनुकूल व्यवहार एवं कोविड वैक्सीनेशन में लोगों की सहभागिता बढ़ाएंगे. पहले चरण में प्रमुख सचिव उच्च शिक्षा एवं तकनीकी शिक्षा विभाग के अधिकारियों, राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन एवं यूनिसेफ के राज्य स्तरीय अधिकारियों ने सभी जिलों के कॉलेजों, इंजीनियरिंग एवं पॉलीटेक्निक कॉलेज के प्राचार्यों एवं जिला टीकाकरण अधिकारियों को मास्टर ट्रेनर के रूप में ट्रेनिंग दी है.

30 दिनों तक 1-1 घंटे की ट्रेनिंग

इन सभी मास्टर ट्रेनर्स (Nurse) ने जिले के महाविद्यालयों के प्राध्यापकों को ट्रेनिंग दी है.प्रशिक्षित प्राध्यापक अधिकतम 50-50 स्टूडेंट्स की टीम को ट्रेनिग देंगे. स्टूडेंट्स को कोविड संक्रमण के दौर में दिनचर्या, व्यवहार और टीकाकरण के महत्व के बारे में जानकारी दी जा रही है. लगातार 30 दिनों तक 1-1 घंटे के 2 सत्र में युवाओं को ट्रेनिंग दी जाएगी. इसके बाद युवाओं की टीम घर-घर जाकर लोगों को जागरूक करेगी.

रियल टाइम मॉनिटरिंग

युवा शक्ति कोरोना मुक्त अभियान की सरकार मॉनिटरिंग करेगी. अभियान की रियल टाइम मॉनिटरिंग के लिए मोबाइल ऐप कोवि संदेश तैयार किया गया है. एप से जागरूकता अभियान की वास्तविक स्थिति का पता लगाया जा सकेगा. मुख्यमंत्री (Chief Minister) शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि दूसरे चरण में निजी कॉलेजों के 8 लाख से ज्यादा विद्यार्थियों को अभियान की जिम्मेदारी दी जाएगी. ट्रेनिंग के बाद निजी महाविद्यालयों के छात्र (student) छात्राएं लोगों को जागरूक करने मोर्चा संभालेंगे.

Please share this news