नोएडा की सुंदरता में लगेंगे चार चांद, सीईओ ने दिए अहम दिशानिर्देश

नोएडा, 26 अक्टूबर . नोएडा को और सुंदर और स्वच्छ बनाने के लिए नोएडा अथॉरिटी के सीईओ ने गुरुवार को उद्यान विभाग के अधिकारियों के साथ बैठक की और उन्हें दिशा निर्देश दिए. सीईओ के मुताबिक अब नोएडा के एंट्री पॉइंट से लेकर अलग-अलग जगह पर और मुख्ता व्यस्ततम मार्गों को फूलों और जानवरों के स्कल्पचर से सजाए जायेगा.

सीईओ ने दो दिशानिर्देश दिए हैं. उनके मुताबिक नोएडा में स्थित विभिन्न गोलचक्करों एवं तिकोनो पर माउण्डस बनाकर गाय, शेर, चिडियों, आदि के स्कल्पचर स्थापित करते हुए सौंदर्यीकरण का कार्य कराया जाये. नोएडा के कुछ ऐसी जगहों को चिन्हित कर जहां आगन्तुकों का आवागमन अत्यधिक रहता है वहां पर विभिन्न प्रकार के फूलों के पौधों का रोपण करते हुए फ्लोरल क्लॉक बनायी जायें.

विभिन्न पार्कों मे जहां-जहां पर नये फुटपाथ निर्मित किये जा रहे हैं, वहं पर ग्रास पेवर / ग्रेनाइट की टाइल्स लगायी जाये. नोएडा के अंडरपासों पर किये गये पेन्टिंग में सुधार कराया जाये एवं नवनिर्मित अंडरपास पर उच्च गुणवत्ता के साथ सुन्दर और शोवर डिजाइन में पेन्टिंग का कार्य कराये जाने के लिए निर्देश दिए गए हैं. इसके साथ ही नोएडा क्षेत्र मे 82 संख्यक जंक्शनों का सर्वे कराकर मुख्य-मुख्य जंक्शनों का उच्च गुणवत्ता के साथ सौन्दर्यीकरण के उच्चीकरण कराने के निर्देश दिये गये हैं.

साथ ही विभिन्न महत्वपूर्ण स्थलों पर ग्रेनाइट निर्मित स्टोन लैम्प, परगोला, स्तम्भ, तोप आदि लगायी जाये. नोएडा के बड़े पार्कों जैसे वेदवन पार्क, मेघदूतम पार्क, बायोडायवर्सिटी पार्क आदि में टावर क्लॉक बनाये जाने के लिए भी निर्देश जारी किया गया है.

सीईओ ने अधिकारियों को ये भी निर्देश किया है कि सेक्टर-18 में एक मार्ग चिन्हित कर हैंगिंग अम्ब्रेला को विकसित कराया जाये तथा फुटपाथ एवं वाल पर रंगीन टाइल्स / ग्रेनाइट लगायी जाये. साथ ही मॉडर्न स्टाइल में स्कल्पचर को विशिष्ट स्थलों पर स्थापित कराया जाये. किसी एक मुख्य गोल चक्कर को स्टोन पिलर्स, फ्लोर प्लांटेशन तथा स्टोन आर्च के माध्यम से और अधिक सुन्दर बनाया जाये. किसी उपयुक्त स्थल को चिन्हित कर माउण्ड पर गोपुरम स्थापित कर गोपुरम के अंदर नोएडा स्कल्पचर स्थापित किया जाये.

पीकेटी/एबीएम

Check Also

दिल्ली में जामिया कैंपस में हुई झड़प में 3 घायल

नई दिल्ली, 2 मार्च . जामिया मिलिया इस्लामिया (जेएमआई) परिसर में दो समूहों के बीच …