Saturday , 19 June 2021

केयरटेकर ने 13 माह की बच्ची को ऐसा पटका कि टूटी हड्डियां, किडनी-लीवर पर चोट

गुरुग्राम (Gurugram). सेक्टर-56 स्थित अलकनंदा अपार्टमेंट की 13 महीने की एक मासूम इस समय वेंटिलेटर पर है. आरोप है कि उसकी देखभाल के लिए रखी 15 साल की नाबालिग केयरटेकर ने बच्ची को इतना पीटा की उसकी पसली की चार हड्डियां टूट गईं. साथ ही उसकी किडनी, लीवर और अन्य अंगों पर भी चोट लगी है. शिकायत पर केयरटेकर के खिलाफ हत्या (Murder) के प्रयास और मारपीट के आरोप में एफआईआर (First Information Report) दर्ज की गई है. बच्ची के पिता पर भी नाबालिग को नौकरी पर रखने का केस दर्ज किया गया है. वहीं, नाबालिग केयरटेकर ने चाइल्ड वेलफेयर कमिटी को बताया कि बच्ची चुप नहीं हो रही थी इसलिए उसे गुस्से में पटक दिया.

पुलिस (Police) के अनुसार, बच्ची के पिता निखिल भाटिया ने यह शिकायत दी है. वो सेक्टर-56 स्थित अलकनंदा अपार्टमेंट में परिवार के साथ रहते हैं. पति-पत्नी दोनों ही वर्किंग हैं. उनकी 13 महीने की बेटी जाएना भाटिया की देखरेख और खिलाने के लिए दंपती ने कुक सबीना के जरिए उत्तरी दिनाजपुर की रहने वाली 15 साल की लड़की को 3 महीने पहले काम पर रखा था, जिसे हर महीने 9 हजार रुपये दिए जाते थे. वह रोज बच्ची को खिलाती थी. करीब 2 साल पहले सबीना को बतौर कुक रखा था.

आरोप है कि निखिल और उनकी पत्नी जसमीत घर का सामान खरीदने के लिए मार्केट गए. 13 माह की बेटी को वो सुलाकर केयरटेकर को घर पर छोड़कर गए थे. करीब 1 घंटे बाद लौटे तो बच्ची काफी जोर-जोर से रो रही थी. बच्ची को वे तुरंत पास के डब्ल्यू प्रतीक्षा हॉस्पिटल लेकर गए. वहां बच्ची को चेक करने के बाद डॉक्टर (doctor) ने हालत खराब बताकर आर्टिमिस हॉस्पिटल ले जाने को कहा. दंपती उसे आर्टिमिस हॉस्पिटल ले गए तो डॉक्टरों (Doctors) ने इलाज शुरू किया. डॉक्टरों (Doctors) ने बताया कि बच्ची की चार रिब बोन्स टूटी हुई हैं. साथ ही उसकी किडनी, लीवर एवं अन्य अंगों पर भी चोट है. बच्ची को फिलहाल वेंटिलेटर पर रखा गया है. बाद में नाबालिग लड़की को पुलिस (Police) ने हिरासत में ले लिया है. उसके जेजे बोर्ड के सामने बयान कराए गए. साथ ही उसकी काउंसलिंग भी कराई जा रही है. थाना के एसआई दलीप सिंह की शिकायत पर घायल बच्ची के पिता निखिल भाटिया पर भी जेजे एक्ट के तहत एफआईआर (First Information Report) दर्ज की गई है. उन पर आरोप है कि नाबालिग बच्ची को केयरटेकर के तौर पर रखा हुआ था जो कानून का उल्लंघन है. नाबालिग लड़की को छोटे बच्चे की केयरटेकर की समझ ही नहीं है तो वो कैसे उसे संभाल सकती है.

Please share this news