Tuesday , 17 September 2019

बोहरा समुदाय : नए इस्लामिक साल 1441 साल के आगाज के साथ मुहर्रम शुरू

उदयपुर, 31 अगस्त (उदयपुर किरण). बोहरा समाज के नव वर्ष हिजरी सन् 1441 का शुभारम्भ शनिवार से हुआ. इस अवसर पर सैयदी खांजीपीर साहब के उर्स पर सार्वजनिक नियाज व मजलिस का आयोजन भी हुआ. खांजीपीर स्थित दरगाह पर विशेष सजावट की गई. इससे पहले नव वर्ष की पूर्व संध्या पर समुदाय के लोगो ने एक दूसरे को नव वर्ष की बधाइयां दी. बोहरवाड़ी और बोहरा समुदाय के विभिन्न मोहल्लों में भी सजावट की गई और सबीलें लगाई गई हैं. शनिवार से इस्लाम के पैगम्बर हजरत मोहम्मद (स.अ.) के नवासे हजरत इमाम हुसैन (अ.स.) की याद में 10 दिन तक समुदाय के लोग गम व मातम मनाएंगे जिसमें कर्बला में हुए शहीदों को याद किया जाएगा. आपकों बता दें कि मोहर्रम इस्लाम धर्म का पहला महीना होने के साथ इस्लाम में अपना विशेष महत्व भी रखता है.

दाऊदी बोहरा जमात के प्रवक्ता मंसूर अली ओड़ावाला ने बताया कि 10 दिन के गमजदा लम्हों में प्रत्येक दिन सुबह 10.30 से 1.30 बजे तक वजीहपुरा मस्जिद में मौलाना अली असगर खिलौना वाला वायज फरमाएंगे. शाम को 4 से 5.45 बजे तक रसूलपुरा मस्जिद में समुदाय की महिलाओं की मजलिस होगी जिसमें मरसिया ख्वानी के अलावा तकरीरे होंगी. शाम 6 बजे से सामूहिक नियाज का आयोजन होगा व रात 9 से 11 बजे तक वजीहपुरा मस्जिद में मजलिस होगी जिसमें मुल्ला पीर अली, डॉ. इरफान अलवी तकरीर पेश करेंगे. साथ ही असरार अहमद अली जावरिया वाला व पार्टी मोएज जरी व पार्टी मुजाम्मिल मुजाहिर के आर व पार्टी, सरफराज मुहिब व पार्टी  और दिगर जाकरीन इमाम हुसैन अ.स. के शहादत में मरसिया व मातम पढ़ेंगे और तकरीरे की जाएंगी.

मोहर्रम की सातवीं तारीख 6 सितंबर को कर्बला के शहीदों की याद में विशाल रक्तदान शिविर लगाया जाएगा. बोहरा यूथ मेडिकल रिलीफ सोसायटी के अध्यक्ष अनीस मियांजी ने बताया की हर साल की तरह इस वर्ष भी ज्यादा से ज्यादा लोगों से रक्तदान करने का आग्रह किया जा रहा है.

Download Udaipur Kiran App to read Latest Hindi News Today