Friday , 14 May 2021

एक वर्ष का कार्यकाल लूट, खसोट, बलात्कार व भ्रष्टाचार का रहा-बीजेपी

रांची (Ranchi) . झारखंड में मुख्य विपक्षी दल भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) ने राज्य सरकार (State government) के एक वर्ष कार्यकाल को लूट, खसोट, बलात्कार और भ्रष्टाचार का शासन करार दिया है. पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष सह राज्यसभा सांसद (Member of parliament) दीपक प्रकाश और विधायक दल के नेता सह पूर्व मुख्यमंत्री (Chief Minister) बाबूलाल मरांडी ने मंगलवार (Tuesday) को सरकार की पहली वर्षगांठ पर आरोप पत्र भी जारी किया.

बाबूलाल मरांडी ने रांची (Ranchi) में आयोजित संवाददाता सम्मेलन में आरोप पत्र जारी करते हुए बताया कि सरकार का पहला काम अमन-चैन और सुरक्षा प्रदान करना है, लेकिन सरकार इस उम्मीद पर भी खरा नहीं सकी. उन्होंने कहा कि नक्सली बेकाबू हो गये है, व्यवसायियों से लेवी की मांग की जा रही है और इस तरह के मामले में मुख्यमंत्री (Chief Minister) के परिवार के सदस्य का नाम भी सामने आ रहा है. उन्हें इस बात की भी जानकारी है कि सत्तारूढ़ दल के विधायकों से भी नक्सली चुपके-चुपके आकर मिल रहे है. पिछली सरकार में झारखंड छोड़ कर भाग गये नक्सली अब वापस लौट आये है, राज्य में 80 हजार पुलिस (Police)कर्मी है, लेकिन इसके बावजूद अपराध काबू नहीं हो पा रहा है.

इस मौके पर प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष दीपक प्रकाश ने कहा कि एक लाइन में यदि एक वर्ष के कार्यकाल का जिक्र किया जाए तो यह कहा जा सकता है कि -एक वर्ष लूट, खसोट, बलात्कार और भ्रष्टाचार अनेक. उन्होंने कहा कि प्रवासी मजदूर किसी भी राज्य के लिए ब्रांड एंबेसडर होते है, लॉकडाउन (Lockdown) में ये वापस आये, लेकिन जिस तेजी से वापस आये, उससे तेजी से वापस चले गये और अपने साथ मानव साथ ले गये. उन्होंने कहा कि यह सरकार सिर्फ होर्डिंग पर चल रही है, विज्ञापनों के माध्यम से अपनी विफलता को छिपाने का काम कर रही है.

प्रदेश अध्यक्ष दीपक प्रकाश ने हेमन्त सरकार के एक वर्ष के कार्यकाल को जनता के सपनों पर कुठाराघात करने वाला साल बताते हुए कहा कि राज्य की सेवा तीन करोड़ जनता को सरकार ने छलने का कार्य किया है. कांग्रेस, जेएमएम और राजद ने राज्य में परिवारवाद को बढ़ाने का कार्य किया है. इस एक वर्ष में विकास की शून्यता और लूट खसोट व भ्रष्टाचार को बढ़ावा मिला है. यह सरकार होर्डिंग और विज्ञापन पर चलने वाली सरकार है. इनके 1 वर्ष के कार्यकाल को सौ में जीरो अंक दिया जाना मुनासिब है. उन्होंने कहा कि राज्य सरकार (State government) विफलताओं को छुपाने के लिए जितने पैसे महोत्सव में खर्च कर रही है उतने पैसे राज्य के दुखी और पीड़ित समाज को मिलता तो कईयों की परेशानी खत्म हो जाती किंतु सरकार बड़े-बड़े विज्ञापन और होर्डिंग देकर अपनी विफलताओं को छुपाने का प्रयास कर रही है.

प्रदेश अध्यक्ष दीपक प्रकाश ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी ने कोरोना काल में अपनी जिम्मेदारियों का निर्वाहन किया. प्रदेश की हेमंत सरकार ने प्रवासियों को बड़े-बड़े सपने अवश्य दिखाएं किन्तु उन प्रवासी मजदूरों की मैपिंग तक नहीं हो सका. यह सरकार किसानों के लिए घड़ियाली आंसू तो जरूर बहा रही किंतु सबसे ज्यादा दुखी इस राज्य में किसान हैं. बिचौलियों को कांग्रेस और झामुमो का साथ मिल रहा है, किसान बदहाल हैं. आदिवासियों की हत्या (Murder) हो रही है, सिद्धू कानू के परिजन की हत्या (Murder) सवाल खड़े करता है. बिजली की लचर व्यवस्था, बेरोजगारों को 5 लाख रोजगार देने का वादा, महिलाओं के साथ दुष्कर्म राष्ट्रद्रोहियों का समर्थन दर्शाता है कि सरकार एक वर्ष में पूर्ण रूप से विफल साबित हुई है. उन्होंने हेमन्त सोरेन के पिछले एक वर्ष के कार्यकाल में किसानों के साथ धोखा हुआ, राज्य में खनिज की लूट मची है, भ्रष्टाचार अपने चरम पर है, राज्य वित्तीय कुप्रबंधन का शिकार हुआ, ना रोजगार मिला ना भत्ता, लोकतंत्र विरोधी हेमंत सरकार, कोरोना काल में बदहाल व्यवस्था, धर्मांतरण को प्रोत्साहन देने वाली सरकार, राष्ट्र द्रोहियों को संरक्षण देने वाली सरकार, विकास कार्य ठप पड़ा हुआ है, महिला विरोधी हेमंत सरकार में महिला उत्पीड़न एवं यौन शोषण में भारी वृद्धि, अल्पसंख्यक विरोधी हेमंत सरकार, आदिवासियों की भी चिंता नहीं, आदिवासी विरोधी निर्णय, दलित विरोधी सरकार, विधि व्यवस्था की स्थिति खराब, उग्रवादियों के हौसले बुलंद, अपराधी पकड़ से दूर और भाजपा कार्यकर्ताओं की हत्या (Murder) सरकार के विफलता को दर्शाता है. पार्टी ने आरोप पत्र को जनता की अदालत में समर्पित किया. सरकार की विफलता को लेकर प्रदेश कार्यालय में एक स्लाइड शो के माध्यम से दर्शाया गया साथ ही आरोप पत्र भी जारी किया गया. इस क्रम में प्रदेश महामंत्री प्रदीप वर्मा, प्रदेश प्रवक्ता प्रदीप सिन्हा, प्रदेश मीडिया (Media) सेल प्रभारी शिवपूजन पाठक, आदि उपस्थित थे.

Please share this news