Sunday , 11 April 2021

हरियाणा में घर-घर जाकर नए कृषि कानूनों से जुड़ी भ्रांतियां दूर करेंगे भाजपा नेता

हिसार . किसान आंदोलन के कारण कई कार्यक्रमों में किसानों के रोष का निशाना बने भारतीय जनता पार्टी नेता अब ‘दूध का जला छाछ’ भी फूंक-फूंक कर पीता है’ की तर्ज पर छोटी टोलियों में घर-घर जाकर नए कृषि कानूनों के बारे में लोगों की ‘भ्रांतियां’ दूर करेंगे.

भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता संजय शर्मा ने फतेहाबाद में भाजपा नेताओं व कार्यकर्ताओं की बैठक लेने के बाद ‘तथ्य, सत्य और किसान आंदोलन’ शीर्षक से एक पैम्फलेट जारी कर कहा कि कार्यकर्ता इस पैम्फलेट के माध्यम से किसानों की भ्रांतियां दूर करेंगे. उन्होंने कहा कि कार्यकर्ता समूह में जाने की बजाय छोटी टोलियों में जाएंगे और किसी बहस या विवाद में ना पड़कर किसान नेताओं, अड़ोसी-पड़ोसी को ही कृषि कानूनों के बारे में बताएंगे कि यह कानून किस तरह से किसान के हित में हैं. उन्होंने आरोप लगाया कि किसान आंदोलन अब राजनीतिक आंदोलन में तब्दील हो गया है.

शर्मा ने कहा कि जो लोग संसद घेराव की बात कर रहे हैं, अगर 26 जनवरी की तरह फिर से हिंसा होती है तो कौन जिम्मेदार होगा? उन्होंने कहा कि किसान कह रहे हैं कि हम भाजपा को वोट नहीं देंगे, चाहे काले चोर को देने पड़ें. उन्होंने कहा कि ये ‘काले चोर’ कांग्रेस वाले ही हैं. उन्होंने आरोप लगाया कि पंजाब (Punjab) के कांग्रेसी मुख्यमंत्री (Chief Minister) कैप्टन अमरिंदर सिंह के इशारे पर ही किसान आंदोलन चल रहा है. पेट्रोल, डीजल व रसोई गैस की बढ़ रही कीमतों के सवाल पर भाजपा प्रवक्ता ने सफाई देने के अंदाज में कहा कि देश के विकास के लिए राजस्व की आवश्यकता पड़ती है, इसलिए मजबूरी में यह कदम उठाने पड़ते हैं.

Please share this news