Sunday , 11 April 2021

पंजाब में राष्ट्रपति शासन लागू करने का बहाना ढूंढ रही बीजेपी

अमृतसर (Amritsar) भाजपा नेताओं द्वारा राज्य में अमन-कानून की स्थिति बिगड़ने के लगाए जा रहे आरोपों पर पूर्व मंत्री और सीनियर कांग्रेसी नेता नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा कि पंजाब (Punjab) में अमन-कानून की स्थिति ठीक है, जबकि भाजपा पंजाब (Punjab) में राष्ट्रपति शासन लागू करने का बहाना ढूंढ रही है. सिद्धू ने कहा कि दिल्ली के बॉर्डरों पर आंदोलनकारी किसानों की जा रही जान सरकार की प्रमुख चिंता होनी चाहिए. उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार (Central Government)पंजाबियों को बदनाम कर रही है और उनकी लोकतांत्रिक आवाज को कुचल के रिलाइंस के व्यापार बचाने और पंजाब (Punjab) में राष्ट्रपति शासन लागू करने का बहाना ढूंढ रही है.

गौरतलब है बीते दिनों पंजाब (Punjab) भाजपा द्वारा राज्यपाल वीपी सिंह बदनौर के पास पंजाब (Punjab) में अमन-कानून की स्थिति बिगड़ने संबंधी शिकायत की गई. इस पर बदनौर द्वारा राज्य के मुख्य सचिव और डीजीपी को तलब करने के लिए नोटिस भेजा था. पंजाब (Punjab) में बिगड़ती कानून व्यवस्था को लेकर भाजपा ने पक्का धरना शुरू करने की घोषणा कर दी है. इस मुहिम की धरने-प्रदर्शन जालंधर, अमृतसर (Amritsar) सहित अन्य जिलों में भी किए जाएंगे. भाजपा ने कहा है कि किसान आंदोलन की आढ़ में विरोधी पक्ष अपनी अलग राजनीति कर रहा है, जिसे माफ़ नहीं किया जाएगा. मामले पर मुख्यमंत्री (Chief Minister) कैप्टन अमरेन्द्र सिंह ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा था कि राज्य में अमन-कानून की व्यवस्था बिलकुल ठीक है जबकि भाजपा द्वारा जान बूझकर कृषि कानून के मसले और किसानों के आंदोलन से ध्यान भटकाने के लिए ऐसे हरकतें की जा रही हैं.

Please share this news