Wednesday , 23 June 2021

शराब खरीदने और रखने की छूट का फैसला प्रदेश के दुर्भाग्य को न्योता : भाजपा

रायपुर (Raipur) (Raipur) . भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय ने कोरोना संक्रमण के छत्तीसगढ़ में भयावह होते जा रहे दौर में भी शराब की कोचियागिरी से बाज नहीं आने और शराब खरीदने व भंडारण करने की मात्रा बढ़ाने पर प्रदेश सरकार की कड़ी आलोचना की है. उन्होंने कहा कि प्रदेश में गंगाजल की कसमें खा-खाकर पूर्ण शराबबंदी का ढोल पीटने वाले कांग्रेस के सत्ताधीशों को जरा भी शर्म महसूस नहीं हो रही हैं क्या?

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष साय ने कहा कि प्रदेश के कोने-कोने में शराब की नदियां बहा रही प्रदेश की कांग्रेस सरकार का मन अब घर-घर शराब की नदियां बहाने पर आमादा हो गया है. कोरोना गाइडलाइन की धज्जियां उड़ाते हुए प्रदेश सरकार ने लाॅकडाउन की मुखालफत सिर्फ शराब से होने वाली कमाई के लिए करके अपनी सियासी फितरत का परिचय दिया और घर-घर शराब पहुंचाने के लिए शिक्षित बेरोजगार युवकों को डिलीवरी बाॅय तक बना डाला. रोजगार के नाम पर प्रदेश की तरुणाई का ऐसा अपमान करने वाली प्रदेश सरकार ने ताजा फैसले से हर मदिराप्रेमी व्यक्ति के लिए 5 लीटर शराब खरीदने और घर में रखने की छूट प्रदान करके छत्तीसगढ़ के दुर्भाग्य को न्यौता दे दिया है. साय ने कहा कि प्रदेश सरकार का यह आदेश बेहयाई की इंतिहा है और महिला शक्ति के अपमान के साथ-साथ पारिवारिक विघटन और अपराधों में बेहिसाब इजाफे की वजह बनेगा.

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष साय ने कहा कि शराब के कारोबार और तस्करी व गोरखधंधे की काली कमाई ने प्रदेश सरकार के मुख्यमंत्री (Chief Minister) और कांग्रेस नेताओं की आंखों पर पट्टी बांध दी है और उन्हें प्रदेश के महाविनाश की आंशका नजर तक नहीं आ रही है. साय ने कहा कि प्रदेश सरकार अपने इस फरमान से प्रदेश में शराब की तस्करी और गोरखधंधे के कई दरवाजे एक साथ खोल रही है और अपनी काली कमाई का जरिया बढ़ाने का काम कर रही है. उन्होंने चेतावनी दी कि प्रदेश सरकार शराबबंदी का वादा निभाये अन्यथा प्रदेश की जनता इस ऐसे कृत्य के लिए माफ़ नहीं करेगी.

Please share this news