सीबीआई के सामने बड़ा सवाल – Daily Kiran
Thursday , 9 December 2021

सीबीआई के सामने बड़ा सवाल

हरिद्वार (Haridwar) . महंत नरेंद्र गिरि की मौत का राज उजागर करने के लिए CBI ने कोर्ट के आदेश पर नैनी जेल में बंद आनंद गिरि, आद्या तिवारी और उनके बेटे संदीप तिवारी को सात दिन के लिए कस्टडी रिमांड पर ले लिया है. तीनों से पुलिस (Police) लाइन में पूछताछ चल रही है. CBI ने आनंद गिरि से अश्लील वीडियो वायरल करने की धमकी से लेकर मठ के संपत्ति विवाद के बारे में पूछताछ की. CBI की टीम सुबह नौ बजे नैनी जेल पहुंच गई. जेल के अफसरों से मिलकर कागजी कार्रवाई पूरी की. इसके बाद आनंद गिरि के अधिवक्ता के सामने उन्हें अपनी हिरासत में लिया. सुबह दस बजे तीनों को लेकर CBI पुलिस (Police) लाइन आई. पुलिस (Police) लाइन के अंदर एक गेस्ट हाउस की पहली मंजिल पर बने कार्यालय में CBI तीनों को ले गई. आनंद गिरि समेत तीनों को चाय और नाश्ता दिया. पहले तो तीनों से वहीं पर पूछताछ शुरू हुई लेकिन बाद में अलग-अलग कर दिया गया. दोपहर में CBI के आईजी वीके चौधरी समेत अन्य अधिकारी भी आनंद गिरि से पूछताछ करने के लिए पुलिस (Police) लाइन पहुंच गए. अफसरों ने आनंद गिरि उर्फ अशोक कुमार चोटिया से अश्लील वीडियो वायरल करने की कहानी के बारे में पूछताछ की. आनंद गिरि से उन्होंने नरेंद्र गिरि से जुड़े संपत्ति विवाद से लेकर हरिद्वार (Haridwar) तक के विवाद खंगाल डाले. इसी तरह बुजुर्ग आद्या और उनके बेटे संदीप से मंदिर से निकाले जाने की कहानी जानी.

उनकी संपत्तियों के बारे में भी पूछताछ की. बताया जा रहा है कि CBI अपनी पूछताछ के बाद आनंद गिरि का मोबाइल और लैपटाप बरामद करने के लिए उन्हें लेकर हरिद्वार (Haridwar) जाएगी. आनंद गिरि समेत तीनों आरोपियों को नैनी जेल लेने पहुंची CBI मंगलवार (Tuesday) को 43 मिनट तक जेल परिसर में डटी रही. तीनों आरोपियों को भारी सुरक्षा के बीच प्रिजन वैन से पुलिस (Police) लाइन ले गई. इस दौरान आनंद गिरि समेत तीनों आरोपियों ने मीडिया (Media) से दूरी बनाए रखी. कस्टडी रिमांड पर लेने के लिए मंगलवार (Tuesday) सुबह 09:10 बजे CBI की छह सदस्यीय टीम नैनी सेंट्रल जेल पहुंची. जेल में CBI टीम ने कोर्ट के कागजातों का मिलान कराने के साथ ही तीनों का मेडिकल कराया. CBI टीम के कुछ सदस्य तीनों को लेकर प्रिजन वैन में लेते गए. इस दौरान जेल के मेन गेट से अंदर वाले गेट सुरक्षा का पुख्ता इंतजाम किया गया था. महंत नरेंद्र गिरि की मौत कैसे हुई, अब इस पर किसी को शक नहीं है कि उन्होंने फांसी लगाई थी. सबकी निगाहें CBI की उस जांच रिपोर्ट पर टिकी है जिसमें खुलासा होगा कि उस वीडियो में ऐसा क्या है? जिस वीडियो के नाम पर नरेंद्र गिरि इतने खौफजदा थे कि जान दे दी, उस वीडियो को किसने बनाया था

Check Also

ट्राई ने नंबर पोर्ट कराना और ज्यादा आसान किया

मुंबई (Mumbai) .टेलिकॉम कंपनियों ने अपने प्रीपेड प्लान को पहले के मुकाबले काफी महंगा कर …