Sunday , 6 December 2020

दिल्ली को आइसोलेशन बेड देकर मदद करेगा, भोपाल ये बेड बनाए गए है ट्रेन की बोगियों में


भोपाल (Bhopal) . जानलेवा कोरोना (Corona virus) से लडने देश की राजधानी दिल्ली को मोबाइल आइसोलेशन बेड देकर भोपाल (Bhopal) रेल मंडल मदद करेगा. पूर्व में भी भोपाल (Bhopal) मंडल दिल्ली सरकार की इस तरह मदद कर चुका है. ये बेड ट्रेन की बोगियों में बनाए हैं, जिनमें आसानी से संक्रमितों को भर्ती किया जा सकेगा. आइसोलेशन बेड वाले कोच दिल्ली भेजने की तैयारी शुरू कर दी है. कभी भी इन कोचों को भेजा जा सकता है. रेलवे (Railway)बोर्ड ने सभी रेल मंडलों से दिल्ली सरकार को 700 बेड उपलब्ध कराने का भरोसा दिया है. दरअसल, भोपाल (Bhopal) रेल मंडल ने 72 कोचों को मोबाइल आइसोलेशन कोच में बदला है.

एक कोच में औसत 7 आइसोलेशन बेड बनाए हैं. इस तरह भोपाल (Bhopal) रेल मंडल के पास 504 आइसोलेशन बेड हैं. इनमें से 20 कोच पूर्व में ही दिल्ली भेजे जा चुके हैं, जो दिल्ली में कोरोना संक्रमितों को भर्ती करने में उपयोग भी किए जा रहे हैं. भोपाल (Bhopal) रेल मंडल के पास 52 कोच अभी भी हैं. इनमें 364 बेड हैं. ये कोच भोपाल (Bhopal) व सूखी सेवनिया रेलवे (Railway)स्टेशन यार्ड में खड़े हैं. मोबाइल आइसोलेशन कोच के अंदर बेड के अलावा ऑक्सीजन सिलिंडर रखने की भी जगह है. डाक्टर व नर्सिंग स्टाफ के लिए केबिन है. दवा स्टोर बॉक्स बनाए हैं. जिस सीट को बेड में बदला है, उसके आसपास की दूसरी सीटों का निकाल दिया गया है, ताकि मरीज, नर्सिंग स्टाफ व डाक्टरों को आने-जाने में असुविधा न हो. हरेक कोच में दो शौचालय हैं.

रेलवे (Railway)ने अस्पतालों में बेड की संभावित जरूरतों को देखते हुए मोबाइल आइसोलेशन कोच तैयार किए हैं. अभी तक इन कोचों की भोपाल (Bhopal) समेत मप्र में जरूरत नही पड़ी है. रेलवे (Railway)के स्थानीय अधिकारियों का कहना है कि यदि भविष्य में जरूरत पड़ती भी है तो जबलपुर (Jabalpur) , कोटा, रतलाम मंडल में पर्याप्त कोच हैं. उन्हें बुला लिया जाएगा. रेलवे (Railway)बोर्ड के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि अलग-अलग रेल मंडलों में 5000 कोच तैयार हैं, जिसमें भोपाल (Bhopal) रेल मंडल भी शामिल है. सभी मंडलों को कोच तैयार रखने के लिए कहा है. भोपाल (Bhopal) की तरह जो मंडल दिल्ली से कम दूरी पर हैं, वहां से कोच मंगाने की प्रक्रिया चालू कर दी है, क्योंकि दिल्ली सरकार को रेलवे (Railway)बोर्ड ने भरोसा दिया है कि 700 बेड दिए जाएंगे.