Tuesday , 27 October 2020

भोपाल-जनशताब्दी एक्सप्रेस को नहीं मिल रहे यात्री, रोजाना 10 से 15 फीसद सीटें जा रही खाली


भोपाल (Bhopal) . राजधानी से होकर गुजरने वाली भोपाल (Bhopal) एक्सप्रेस और जनशताब्दी एक्सप्रेस को गत तीन महीनों से यात्री नहीं ‎मिल रहे है. सामान्य दिनों में जहां इन ट्रेनों में वेटिंग रहती थी वहीं आजकल इन ट्रेनों में हर रोज 10 से 15 फीसद खीटें खाली जा रही हैं. कन्फर्म सीट पाने के लिए पूर्व से टिकट करना पड़ता था. अब वेटिंग का झंझट नहीं है. कोरोना संक्रमण की वजह से इन ट्रेनों में यात्री जरूरत के हिसाब से ही सफर कर रहे हैं. वहीं भोपाल (Bhopal) के रास्ते प्रयागराज (Prayagraj)के लिए एकमात्र कामायनी एक्सप्रेस है. मंगलवार (Tuesday) को रात 8 बजे इस ट्रेन में 4 सितंबर की यात्रा के लिए कन्फर्म सीटें नहीं थी.

जनरल में 10, द्वितीय श्रेणी में 5, तृतीय श्रेणी में 9 वेटिंग थी. जबकि स्लीपर में 33 वेटिंग थी. भोपाल (Bhopal) से गोरखपुर के लिए दो ट्रेन कुशीनगर और एलटीआई-गोरखपुर स्पेशल ट्रेन है. दोनों में मंगलवार (Tuesday) रात 8 बजे की स्थिति में 4 सितंबर को कन्फर्म सीटें नहीं थी. सभी श्रेणी में वेटिंग थी. मालूम हो कि ये दोनों ट्रेनें 1 जून से रोज दौड़ रही हैं. भोपाल (Bhopal) एक्सप्रेस हबीबगंज से हजरत निजामुद्दीन और जनशताब्दी एक्सप्रेस हबीबगंज से जबलपुर (Jabalpur)के बीच चलती है. इस संबंध में भोपाल (Bhopal) रेल मंडल के अधिकारियों का कहना हैं कि भले ही मंडल से बनकर चलने वाली दोनों ट्रेनों को क्षमता के अनुरूप पूरे यात्री नहीं मिल रहे हैं, लेकिन जो यात्री सफर कर रहे हैं, उन्हें मदद मिल रही है. आने वाले समय में दोनों ट्रेनों को पर्याप्त यात्री मिलने लगेंगे, क्योंकि ट्रेनों में संक्रमण को रोकने के लिए पर्याप्त इंतजाम किए गए हैं.