Friday , 16 April 2021

कमलनाथ के छिंदवाड़ा की आठ युवतियों को बैतूल पुलिस ने जिस्म फ़रोशी के दलदल में गिरने से बचाया

बैतूल /नवल-वर्मा. छिंदवाड़ा की आठ युवतियों को बैतूल की पुलिस (Police) ने जिस्म फरोशी के दलदल में गिरने से पहले बचा लिया. एसपी सिमाला प्रसाद ने प्रेस कांफ्रेंस में बुधवार (Wednesday) को इस पूरे मामले की तफसील से जानकारी दी. उन्होंने बताया कि मुखबिर की सूचना पर पुलिस (Police) ने यह धरपकड़ की है. एस पी के मुताबिक इन युवतियों को बालाजीपुरम घुमाने के नाम पर छिंदवाड़ा से नागपुर ले जाया जा था था. मुलताई पुलिस (Police) को मुखबिर से सूचना मिलते ही एसपी के निर्देश पर टीम बनाई गई. मंगलवार (Tuesday) शाम पुलिस (Police) ने छिंदवाड़ा (Chhindwara) से मुलताई मार्ग पर एक बुलेरो वाहन से 8 युवतियो को बरामद कर लिया है. इन्हें लेकर जा रहे दो युवक और एक महिला को भी हिरासत में लिया गया है. आरोपी भी छिंदवाड़ा (Chhindwara) जिले के ही रहने वाले है.. पुलिस (Police) ने आरोपियों पर देह व्यापार अधिनियम का मामला दर्ज किया है.एसपी सिमाला प्रसाद ने बताया कि सूचना मिलने पर उन्होंने निर्देश देकर एसडीओपी नम्रता सोंधिया के नेतृत्व में मुलताई टीआई सुरेश सोलंकी, आमला टीआई सुनील लाटा और बोरदेही टीआई प्रवीण कुमारे की टीम बनाई गई. टीम ने मंगलवार (Tuesday) को मुखबिर की सूचना के आधार पर दुनावा टोल बैरियर पर चेकिंग अभियान शुरू किया. इसी दौरान एक संदिग्ध बोलेरो वाहन क्रमांक एमपी-04-बीसी-3624 को घेराबंदी कर पकड़ा. आरोपी भागने का प्रयास कर रहे थे, लेकिन पुलिस (Police) की सक्रियता से इन्हें दबोच लिया गया. इस दौरान बुलेरो वाहन में 8 युवतियों को बरामद किया. सभी ने पूछने पर बताया कि उन्हें बालाजीपुरम घुमाने का बोलकर देह व्यापार के लिए जबरन नागपुर ले जाया जा रहा था. इसके बदले 5-5 हजार रूपये देने की बात भी की जा रही थी.

– तीन आरोपी हिरासत में लिए

एसपी ने बताया कि छिंदवाड़ा (Chhindwara) जिले की सभी 8 युवतियोंं को प्रियंका वर्मा उर्फ रश्मि पिता राजकुमार वर्मा उम्र 30 साल निवासी रेल्वे स्टेशन के पीछे पातालेश्वर छिन्दवाडा, नीलेश उर्फ लल्ला पिता लालचंद डेहरिया उम्र 26 साल निवासी कोसमी परासिया जिला छिन्दवाडा, धारा सिंह पिता टीकाराम चौहान उम्र 28 साल निवासी कुकडा किरार थाना मौखेड़ जिला छिन्दवाडा को अभिरक्षा में लिया गया है. आरोपियों को न्यायालय में पेश कर रिमांड पर लिया जाएगा. सभी पर धारा 366, 506, 342, 34 अनैतिक देहव्यापार अधिनियम का मामला दर्ज किया गया है.

– सटीक मुखबिरी का नतीजा है यह सफलता

सटीक मुखबिरी और उस पर पुलिस (Police) की सही प्लानिंग की वजह से धरपकड़ अधिनियम अभियान में 8 युवतियों देह व्यापार जैसे अनैतिक काम में जाने से बच गई. यदि पुलिस (Police) सक्रिय नहीं होती तो युवतियां देह व्यापार के लिए नागपुर पहुंचाई जा सकती थी. पूरी कार्रवाई में एएसपी श्रद्धा जोशी, एसडीओपी मुलताई सु नम्रता सोधिया, थाना प्रभारी मुलताई सुरेश सोलंकी,थाना प्रभारी आमला सुनील लाटा, थाना प्रभारी बोरदेही प्रवीण कुमरे, उपनिरीक्षक तरूणा भारद्वाज,मोहित दुबे, राहुल राजोरिया,सहायक उपनिरीक्षक अरविन्द दीक्षित, रणधीर सिंह राजपूत, प्रधान आरक्षक चालक रवीन्द्र नागले आरक्षक नीलेश, रोहित, मिथलेश, शिवम, रामचंद्र अहिके, गोपाल, सेवाराम महिला आरक्षक पुष्पा धुर्वे, पप्पी बरखान, आरजू तोमर, सोनू ठाकुर की सराहनीय भूमिका रही है.

Please share this news