Thursday , 25 February 2021

23 साल की उम्र में कांग्रेस के एक कद्दावर नेता को हराया था पासवान ने, अनेक नेताओं ने संवेदना व्यक्त की


नई दिल्ली (New Delhi) . केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान का आज निधन हो गया. वे लंबे समय से बीमार चल रहे थे. पांच दशक से भी ज्यादा समय तक राजनीति करने वाले रामविलास पासवान ने 1969 में अपने राजनीतिक सफर की शुरुआत की थी. उन्होंने तब कांग्रेस के एक कद्दावर नेता को 700 वोटों से हराया था. उस वक्त उनकी उम्र 23 साल ही थी. उस वक्त उन्होंने संयुक्त सोशलिस्ट पार्टी के उम्मीदवार के तौर पर खगड़िया की अलौली विधानसभा सीट पर उपचुनाव जीता था.

जब रामविलास पासवान ने 22 साल की उम्र में सिविल सर्विसेज की परीक्षा पास कर ली थी और अपने गांव खगड़िया के शहरबन्नो पहुंचे थे, तब उन्होंने देखा कि एक दलित की कुछ लोग पिटाई कर रहे हैं. दलित पर 150 रुपये नहीं लौटाने के आरोप थे. उस वक्त तक पासवान की नौकरी पुलिस (Police) महकमे में हो चुकी थी, तब उन्होंने भीड़ पर पुलिस (Police) का रौब दिखाकर न सिर्फ उस दलित को बचाया था बल्कि दबंग के कागजात फाड़ दए थे. इस घटना से पासवान लोगों में काफी लोकप्रिय हो गए. उनकी लोकप्रियता ऐसी बढ़ी कि लोगों ने उन्हें चुनाव लड़ने को कह दिया, फिर वो सरकारी नौकरी छोड़ राजनीति के रास्ते पर निकल पड़े. उनके निधन पर राहुल गांधी, हेमंत सोरेन, भूपेश बघेल समेत देश के तमाम बड़े नेताओं ने संवेदना प्रकट की. उनके पुत्र चिराग पासवान ने लिखा ‘पापा…अब आप इस दुनिया में नहीं हैं लेकिन मुझे पता है आप जहां भी हैं हमेशा मेरे साथ हैं.’

राहुल गांधी ने अपने ट्विटर अकाउंट पर लिखा, ”रामविलास पासवान जी के असमय निधन का समाचार दुखद है. ग़रीब-दलित वर्ग ने आज अपनी एक बुलंद राजनैतिक आवाज़ खो दी. उनके परिवारजनों को मेरी संवेदनाएं.” कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी ने ट्वीट करके संवेदना प्रगट की. उन्होंने लिखा, ”रामविलास पासवान जी वर्षों से मेरी मां के पड़ोसी रहे और उनके परिवार के साथ हमारा एक निजी रिश्ता था. उनके निधन की सूचना से बेहद दुःख हुआ है. चिराग जी और परिवार के समस्त सदस्यों को मेरी गहरी संवेदना. इस दुखद घड़ी में हम आपके साथ हैं.”

वहीं, झारखंड के मुख्यमंत्री (Chief Minister) हेमंत सोरेन ने भी ट्वीट करके संवेदना प्रगट की. उन्होंने लिखा, ”केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान जी के निधन के बारे में सुनकर बेहद दुख हुआ. लंबे समय तक सांसद, सार्वजनिक जीवन में उनके योगदान को याद किया जाएगा. शोक की इस घड़ी में परिवार के सदस्यों, चिराग पासवान के साथ प्रति मेरी संवेदना. उनकी आत्मा को शांति मिले.” छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के मुख्यमत्री भूपेश बघेल ने ट्वीट करके लिखा, ”राष्ट्रीय राजनीति, ख़ासकर बिहार (Bihar)की राजनीति में एक महत्वपूर्ण स्थान रखने वाले, केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान जी के निधन का समाचार दुःखद है. मैं ईश्वर से उनकी आत्मा की शांति एवं चिराग पासवान जी सहित समस्त परिवार को संबल प्रदान करने की प्रार्थना करता हूं.”

केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने भी ट्वीट करके लिखा, ”केंद्रीय मंत्री श्री रामविलास पासवान जी के निधन का दुःखद समाचार सुनकर मैं स्तब्ध हूं. ईश्वर दिवंगत आत्मा को अपने श्रीचरणों में स्थान दे व परिजनों को इस दुःख को सहन करने की शक्ति दे. श्री पासवान जी ने हमेशा गरीब, वंचित व शोषितों के उत्थान के लिए काम किया. ॐ शांति.”

Please share this news