Wednesday , 23 June 2021

असीम अरुण कानपुर और ए सतीश गणेश वाराणसी के पहले पुलिस कमिश्नर बने

लखनऊ (Lucknow) . उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) की योगी सरकार ने नोएडा (Noida) और लखनऊ (Lucknow) के बाद दो बड़े शहरों में वाराणसी (Varanasi) और कानपुर (Kanpur) में भी कमिश्नर प्रणाली लागू कर दी है. कैबिनेट से प्रस्ताव पास होने के बाद इस पर नोटिफिकेशन भी जारी हो गया है. वहीं सीनियर आईपीएस और इस समय डायल 112 की जिम्मेदारी संभाल रहे असीम अरुण कानपुर (Kanpur) के पहले पुलिस (Police) कमिश्नर होंगे. वहीं ए सतीश गणेश वाराणसी (Varanasi) के पहले पुलिस (Police) कमिश्नर होंगे.इसके साथ ही कई आईपीएस अफसरों को नई तैनाती दी जा रही है, इसमें कानपुर (Kanpur) और वाराणसी (Varanasi) के कप्तान भी शामिल हैं.

जानकारी के अनुसर वाराणसी (Varanasi) में अब तक एसएसपी रहे अमित पाठक को गाजियाबाद (Ghaziabad) में डीआईजी/एसएसपी पद पर भेजा जा रहा है. वहीं कानपुर (Kanpur) और वाराणसी (Varanasi) में भी आईजी और डीआईजी रैंक के अफसरों के साथ एसपी रैंक के कई अफसरों की तैनाती लिस्ट तैयार हो रही है. दोनों ही जिलों को दो-दो हिस्सों में बांट दिया गया है. वाराणसी (Varanasi) में वाराणसी (Varanasi) नगर और ग्रामीण और कानपुर (Kanpur) में कानपुर (Kanpur) नगर व कानपुर (Kanpur) आउटर के रूप में बांटा गया है. कैबिनेट के निर्णय के बाद अब उक्त दोनों जिलों में पुलिस (Police) कमिश्नर की तैनाती की जा रही है.

वाराणसी (Varanasi) नगर में पुलिस (Police) कमिश्नर और ग्रामीण में एसपी को कमान सौंपी जाएगी. इसी तरह कानपुर (Kanpur) नगर में पुलिस (Police) कमिश्नर और कानपुर (Kanpur) आउटर में एसपी को जिम्मेदारी दी जाएगी. जिलाधिकारी का दखल ग्रामीण क्षेत्रों में ही रहेगा. नगर क्षेत्र कमिश्नरेट में कानून व्यवस्था में जिलाधिकारी का दखल नहीं रहेगा.

Please share this news