Tuesday , 19 January 2021

देवगढ़ राजमहल में MP न्यायाधीश के पुत्र संभ्रात सिंह के साथ अनामिका ने महल में लिये सात फैरे

राजसमंद. जिल के  देवगढ़ महल में दिल्ली की अनामिका सिंह की शादी मध्य प्रदेश के उच्च न्यायालय के न्यायाधीश (judge) के पुत्र  संभ्रांत सिंह  पिता समरसिंह के साथ हुई. बारात मध्य प्रदेश से आई जिसमें  मध्य प्रदेश सरकार के  कैबिनेट मंत्री  कमल पटेल  रीवा महाराजा पूर्व सांसद (Member of parliament) पुष्पराज सिंह  सहित कई  प्रशासनिक अधिकारी भी बारात में शामिल हुए.

जानकारी में आया कि इस शादी समारोह से 8 माह बाद होटल (Hotel) कर्मचारियों के मुंह पर खुशी की लहर दिखाई दी. बारात में आए कैबिनेट मंत्री सांसद (Member of parliament) एवं प्रशासनिक अधिकारियों ने देवगढ़ महल के दृश्य को देखकर खुश हुए, जहां  राजस्थानी, खाना यहां का रहन-सहन, यहां का वातावरण, यहां के होटल (Hotel) के कर्मचारियों की लोकप्रियता देख कर मन ही मन गदगद हो गए. 21 मार्च से सरकार के आदेश अनुसार लॉक डाउन लगने के बाद 8 महीने से होटल (Hotel) कर्मचारी बेरोजगार घर बैठे थे.

इस शादी से होटल (Hotel) कर्मचारियों चेहरे पर रौनक लौटी वही महल की बनावट को देखकर मध्य प्रदेश से आए हुए केबिनेट मंत्री आश्चर्यजनक महसूस किया.उन्हे यहां का खाना काफी अच्छा लगा, यहां का वातावरण भी मध्य प्रदेश से काफी अच्छा लगा,शादी ट्रेडिशनल स्टाइल से राजमहल के  दरवाजे से हाथी पर बिठाकर राजा महाराजा की तरह होटल (Hotel) के अंदर लाया गया जहा हाथी पर बैठकर दूल्हे ने तोरण की रस्म अदा की, उसके बाद शादी समारोह प्रारंभ हुआ. इस दौरान राजघराने के सदस्य मयूरध्वज सिंह ने बताया कि 8 माह बाद होटल (Hotel) में पहली शादी होने से आसपास के कई बेरोजगार बैठे होटल (Hotel) कर्मचारियों को रोजगार मिला जिससे उनके चेहरे पर खुशी की लहर देखने को मिली.

कोरोनावायरस के चलते हुए सरकार की गाइडलाइंस के पालना करते हुए धीरे-धीरे होटल (Hotel) व्यवसाय प्रारंभ हुआ है. मध्य प्रदेश से आए हुए कई मंत्री, प्रशासनिक अधिकारी 3 दिन तक देवगढ़ महल ठहरे हुए थे. इस शादी में सरकार की गाइडलाइंस की पालना करते हुए शादी की रस्म पूरी की गई. शादी में आए हुए कई बारातियों एव मंत्री ने देवगढ़ स्थानीय प्रशासनिक अधिकारियों की भी जमकर तारीफ देवगढ़ नगर में साफ सफाई सरकार के गाइडलाइंस की पालना करते लोग नजर आए और  कहा वैसे हमने भारत के कई राज्यों में घूमे लेकिन देवगढ़ में इस प्रकार का महल पहली बार देखा, यहां के शांति महल में कई सारे पुराने कमरे, उनकी कमरे के अंदर बनी हुई पेंटिंग देखकर हमें काफी अच्छा लगा. हम आगे से यहां और शादिया करवाएंगे.

Please share this news