Sunday , 11 April 2021

गुजरात के स्थानीय निकाय चुनाव प्रचार में शामिल नहीं होंगे अमित शाह

अहमदाबाद (Ahmedabad) . गुजरात (Gujarat) के 6 नगर निगम समेत नगर पालिका और जिला व तहसील पंचायतों के चुनाव प्रचार केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह शामिल नहीं होंगे. जिसकी वजह किसान आंदोलन, संसद का बजट सत्र और पश्चिम बंगाल (West Bengal) में होनेवाले विधानसभा चुनाव (Assembly Elections) है. अहमदाबाद (Ahmedabad), वडोदरा, सूरत (Surat), राजकोट (Rajkot), भावनगर और जामनगर में आगामी 21 फरवरी को चुनाव है. जबकि 81 नगर पालिका, 31 जिला पंचायत और 231 तहसील पंचायतों में 28 फरवरी को वोटिंग होनी है.

नगर निगम चुनाव के लिए नामांकन प्रक्रिया पूर्ण हो चुकी है और चुनाव प्रचार शुरू कर दिया है. आज नाम वापस लेने की प्रक्रिया पूर्ण होने के बाद उम्मीदवारों को चुनाव प्रचार तेज करने का आदेश दिया गया है. सोमवार (Monday) को गुजरात (Gujarat) भाजपा ने मतदाताओं को रिझाने के लिए “गुजरात (Gujarat) छे मक्कम, भाजप साथे अडिखम” चुनावी नारे के साथ ही एक थीम गीत भी लोंच किया है. विकास के मुद्दे पर भाजपा फिर एक बार मतदाताओं को रिझाने का प्रयास करेगी. स्थानीय निकाय चुनावों में केन्द्रीय नेताओं को स्टार प्रचारकों के तौर पर उतारने की तैयारियां की जा रही हैं. हांलाकि केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह के चुनाव प्रचार में शामिल नहीं होने की जानकारी है. बताया जाता है कि अमित शाह फिलहाल किसान आंदोलन, संसद के बजट सत्र में व्यस्त हैं. इसके अलावा पश्चिम बंगाल (West Bengal) के चुनाव प्रचार की कमान भी शाह के हाथ में है, जिसकी वजह से वह गुजरात (Gujarat) के स्थानीय निकाय चुनाव प्रचार में शामिल नहीं होंगे.

गुजरात (Gujarat) के मुख्यमंत्री (Chief Minister) विजय रूपाणी समेत मंत्री और भाजपा नेता 11 फरवरी से राज्य में चुनाव प्रचार शुरू करेंगे. दूसरी ओर कल यानी बुधवार (Wednesday) को नगर पालिका, जिला व तहसील पंचायत चुनावों के लिए भाजपा उम्मीदवारों का ऐलान किए जाने की संभावना है.

Please share this news