Sunday , 11 April 2021

अमित शाह मुझे समझा दें कृषि कानून, मैं समझ गया तो किसानों को समझा दूंगा’

-सरकार सभी फसलों के भाव तय करे, पूंजीपतियों के हवाले खेत और फसलें क्यों करने दें

बागपत . राष्ट्रीय लोकदल (रालोद) के राष्ट्रीय अध्यक्ष चौधरी अजित सिंह ने किसानों को तीनों कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलन के लिए एकजुट रहने का आह्वान करते हुये कहा कि वे अभी से इस सरकार को नष्ट करने में लग जाए वरना यह सरकार उन्हें बर्बाद कर देगी. बागपत के बामनौली गांव में राजा सलक्षणपाल तोमर की जयंती के अवसर पर आयोजित किसान पंचायत को संबोधित करते हुये उन्होंने कहा कि शहीद भगत सिंह के चाचा सरदार अजित सिंह ने अंग्रेजों के किसान विरोधी कानूनों के खिलाफ पगड़ी संभालने का नारा दिया था. वे भी अब पगड़ी संभाल लो, इस सरकार का बहिष्कार शुरु कर दो.

चौधरी अजित सिंह ने कहा कि यह सरकार किसानों की जमीन छीनना चाहती है. कांट्रेक्ट खेती कानून जिस तरह से केन्द्र सरकार ने लागू किया, इससे किसी भी तरह से किसान की जान नहीं बचती. उन्होंने कहा कि केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने अपने सांसदों व विधायकों को अपने क्षेत्रों में समझाने के लिए भेजा है. वह किसानों को नहीं समझा पाए. वह उनसे कहना चाहते हैं कि यह कानून उन्हें समझा दें. यदि मेरी समझ में आ गए तो मैं किसानों को समझा दूंगा. रालोद अध्यक्ष ने कहा कि कांट्रेक्टर खेती को वह बुरी नहीं मानते हैं. गन्ने की खेती का कांट्रेक्ट ही तो है, लेकिन यह कांट्रेक्ट सरकार से किया जाता है. सरकार भाव तय करती है. सरकार को सभी फसलों के भाव तय करने चाहिए. पूंजीपतियों के हवाले किसानों के खेत और फसलों को क्यों कर रहे हो.

Please share this news