भारत और आसियान के बीच कुछ इलाकों में पर्यटन को बढ़ाने में हवाई संपर्क अधिक जरुरी – Daily Kiran
Wednesday , 20 October 2021

भारत और आसियान के बीच कुछ इलाकों में पर्यटन को बढ़ाने में हवाई संपर्क अधिक जरुरी

नई दिल्ली (New Delhi) . केंद्रीय मंत्री सर्बानंद सोनोवाल ने कहा कि भारत और आसियान (दक्षिण पूर्व एशियाई देशों के संगठन) के बीच क्षेत्र के कुछ इलाकों में पर्यटन को बढ़ाने में हवाई संपर्क पर अधिक ध्यान देने की जरुरत है. बंदरगाह, पोत परिवहन और जलमार्ग मंत्री ने द्विपक्षीय व्यापार बढ़ाने के लिए आसियान देशों के साथ क्षेत्रीय संपर्क परियोजना में तेजी लाने की जरूरत जाहिर की. उन्होंने कहा, हमें भारत और आसियान के बीच क्षेत्र के अनछुए इलाकों में पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए हवाई संपर्क पर अधिक ध्यान देने जररुत है.केन्द्रीय मंत्री सोनोवाल ने भविष्य की भारत-आसियान संपर्क भागीदारी विषय पर उद्योग मंडल फिक्की के सम्मेलन को संबोधित कर यह बात कही. सोनोवाल ने कहा, ‘‘इसके अलावा हम समझौते की जल्द समीक्षा करने पर भी विचार कर रहे हैं, जिससे दोनों पक्षों के बीच वास्तविक व्यापार क्षमता हासिल करने में मदद मिलेगी.’’

समीक्षा में सीमा शुल्क प्रक्रिया तथा व्यापार को और उदार बनाने जैसे मुद्दों को शामिल किए जाने की उम्मीद है. मंत्री ने कहा कि 10 आसियान देशों में से केवल पांच देशों-मलेशिया, म्यांमा, सिंगापुर, वियतनाम और थाईलैंड के साथ भारत की सीधी उड़ान सेवाएं है. जबकि कंबोडिया, इंडोनेशिया और फिलीपीन सहित अन्य पांच देशों के साथ कोई सीधी उड़ान नहीं है. उन्होंने कहा कि इंडोनेशिया और फिलीपीन दो प्रमुख देश हैं, जिनके साथ भारत का पर्याप्त व्यापार और पर्यटन हित है. सोनोवाल ने कहा, ‘‘हमारा मानना है कि स्थिति में रूपांतरण केवल चीजों में बदलाव के माध्यम से संभव है और अगर इसे हासिल करना है,तब संपर्क और संचार जरूरी है.’’

Please share this news

Check Also

तृणमूल कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने भाजपा उम्मीदवार और एक विधायक के साथ धक्का-मुक्की की

कूचबिहार (Bihar) . पश्चिम बंगाल (West Bengal) के कूचबिहार (Bihar) जिले में भारतीय जनता पार्टी …