Wednesday , 25 November 2020

काले जादू की किताब पढ़कर दी थी बच्ची की बलि! कानपुर में संतान प्राप्ति के लिए दंपती ने खाया था कलेजा


कानपुर (Kanpur) (Kanpur) . दिवाली की रात 6 वर्षीय बच्ची की बलि देकर उसका कलेजा खाने वाले दंपती को पुलिस (Police) ने जेल भेज दिया है. तफ्तीश में सामने आया है कि दंपती संतान प्राप्ति के लिए काले जादू की किताबें पढ़ते थे. तरह-तरह के अनुष्ठान करते थे. दंपती ने बताया है कि काले जादू की किताब में लिखा था कि दिवाली की रात बच्ची की बलि देकर उसका कलेजा खाने से संतान प्राप्ति होगी. पति ने अपने भतीजे को पैसे का लालच देकर बच्ची की हत्या (Murder) कराई थी. दिवाली के अगले दिन (रविवार (Sunday)) बच्ची का शव काली मंदिर के पास सरसों के खेत में क्षत-विक्षत हालत में मिला था. हत्या (Murder) रे बच्ची के दोनों फेफड़े, दिल और लिवर निकालकर ले गए थे.

आरोपी दंपती परशुराम और सुनैना की शादी 1999 में हुई थी. शादी के 21 साल बीत जाने के बाद पति-पत्नी के एक भी संतान नहीं थी. बताया जा रहा है कि परशुराम रेलवे (Railway)स्टेशन से एक काले जादू की किताब लेकर आया था, जिसमें संतान प्राप्ति की विधि लिखी थी. बच्ची के पिता ने आरोप लगाया है कि बच्ची के अंगों की तस्करी भी हो सकती है. उन्होंने पुलिस (Police) की कार्रवाई पर सवाल उठाए हैं. उनका कहना है कि इस पूरे घटनाक्रम की CBI जांच होनी चाहिए. किसी निर्दोष को सजा ना दी जाए.