Friday , 14 May 2021

आप के तीखे तेवर बीजेपी ने लिखी शाहीन बाग की स्क्रिप्ट

नई दिल्ली (New Delhi) . दिल्ली के शाहीन बाग में पिस्तौल से फायर करने वाले कपिल गुर्जर की भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) में सदस्यता और फिर उसे तुरंत रद्द करने के मामले में आम आदमी पार्टी आपने बीजेपी पर जमकर निशाना साधा. आप सांसद (Member of parliament) संजय सिंह और प्रवक्ता सौरभ भारद्वाज ने बीजेपी पर शाहीन बाग की स्क्रिप्ट लिखने का आरोप लगाया है. हालांकि विवाद बढ़ने के बाद बीजेपी ने कपिल की पार्टी की सदस्यता कुछ ही घंटों में रद्द कर दी. वीडियो बयान जारी कर आप सांसद (Member of parliament) संजय सिंह ने कहा कि बीजेपी वाले बार-बार यह साबित करने की कोशिश कर रहे थे कि संजय सिंह से कपिल गुर्जर का रिश्ता है और जो शाहीन बाग में गोली चली वो संजय सिंह ने चलवाई थी. लेकिन आज वो कपिल गुर्जर बीजेपी में शामिल हो गया. इससे हम साफ समझ सकते हैं कि शाहीन बाग में आंदोलन चलाने वाले और वहां गोली चलाने वाले लोग बीजेपी में शामिल हो रहे हैं. उन्होंने कहा कि वो शामिल होते हैं तो सवाल यह उठता है कि आखिर बीजेपी देश के साथ ऐसा क्यों कर रही है. बीजेपी AAP को बदनाम करने के लिए किस हद तक जाएगी. हर बार बीजेपी डर्टी पॉलिटिक्स के जरिए ऐसे लोगों का इस्तेमाल कर रही है जो पहले उनका हिस्सा थे फिर उनका सबंधं हमारे पार्टी से जोड़ा और अब उन्हें पार्टी में शामिल कर रहे हैं. दूसरी ओर, आम आदमी पार्टी के प्रवक्ता सौरभ भारद्वाज ने बीजेपी को घेरते हुए कहा कि शाहीन बाग में फायरिंग कर दिल्ली का माहौल खराब करने वाला कपिल गुर्जर बीजेपी में शामिल हो गया. शाहीन बाग का आंदोलन चलाने वाले और उसमें गोली चलाने वाले लोग अब बीजेपी में शामिल हो रहे हैं. इससे साफ हो गया कि बीजेपी ने विधानसभा चुनाव (Assembly Elections) में सिर्फ फायदा लेने के लिए दिल्ली का माहौल खराब किया था. उन्होंने कहा कि उस वक्त दिल्ली पुलिस (Police) के डीसीपी ने कपिल गुर्जर को आम आदमी पार्टी का कार्यकर्ता होने का दावा किया था और बीजेपी ने उसे सांसद (Member of parliament) संजय सिंह का करीबी बताया था.

साथ ही, बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कपिल गुर्जर को आतंकवादी बताया था और आम आदमी पार्टी पर आतंकवादियों को शय देने का आरोप लगाया था. आम आदमी पार्टी अब जानना चाहती है कि आखिर ऐसी क्या मजबूरी हो गई थी कि भारतीय जनता पार्टी को ऐसे आतंकवादियों को अपनी पार्टी में शामिल करना पड़ रहा है. सौरभ भारद्वाज ने कहा कि दिल्ली विधानसभा चुनाव (Assembly Elections) 2020 में भारतीय जनता पार्टी ने तमाम विकास के मुद्दों को छोड़कर अपना पूरा चुनाव केवल शाहीन बाग के मुद्दे पर केंद्रित किया था और दिल्ली का पूरा माहौल सांप्रदायिक कर दिया था. हिंदू संप्रदाय में और मुस्लिम संप्रदाय में एक दूसरे के प्रति जहर घोला जा रहा था. केवल और केवल अपना राजनीतिक स्वार्थ साधने के लिए भारतीय जनता पार्टी दिल्ली का माहौल इस तरह से गंदा कर रही थी, इस तरह से जहर फैला रही थी कि सभी राजनीतिक और सामाजिक जानकार यह कह रहे थे कि दिल्ली में कभी भी दो समुदायों के बीच में सांप्रदायिक दंगे हो सकते हैं. सौरभ भारद्वाज ने बताया कि दिल्ली विधानसभा चुनाव (Assembly Elections) से ठीक कुछ दिन पहले कपिल बसोया उर्फ कपिल गुर्जर नाम का एक व्यक्ति शाहीन बाग पिस्तौल के साथ पहुंचा. बीजेपी द्वारा लगाए जाने वाले नारे लगाए और उसके बाद उसने वहां पर पिस्तौल से फायरिंग भी की. पुलिस (Police) मूकदर्शक बनकर बैठी रही.

उन्होंने कहा कि हमने उस वक्त भी कहा था कि बीजेपी सिर्फ एक चीज की कोशिश कर रही है कि किसी प्रकार से दिल्ली में दो समुदायों के बीच दंगे हो जाएं. उन्होंने कहा कि उसके बाद सब ने देखा और बीजेपी के लोगों ने खुद प्रेस कॉन्फ्रेंस करके इस बात को बताया कि शाहीन बाग आंदोलन के बड़े नेता भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो रहे हैं. एक और खबर सामने आई कि कपिल गुर्जर जिन्होंने पिस्तौल दिखाकर शाहीन बाग में हिंसा फैलाने की कोशिश की थी, उन्होंने भी बीजेपी की सदस्यता ग्रहण कर ली है. उन्होंने कहा कि यह बात अब बिल्कुल साफ हो जाती है. क्योंकि शाहीन बाग आंदोलन के दोनों तरफ के किरदार, शाहीन बाग में आंदोलन कराने वाले भी और उन पर गोली चलाने वाले लोग भी भारतीय जनता पार्टी में शामिल हैं. उन्होंने कहा कि अब यह बात बिल्कुल साफ हो जाती है कि सिर्फ और सिर्फ चुनावी लाभ उठाने के लिए बीजेपी ने दिल्ली के अंदर माहौल खराब किया और फिर दिल्ली के अंदर दंगे हुए. 

Please share this news