Wednesday , 16 June 2021

वर्तमान खरीफ विपणन सत्र के दौरान रिकॉर्ड 683.21 लाख मीट्रिक टन धान खरीदा गया


नई दिल्ली (New Delhi) . खरीफ विपणन सत्र (केएमएस) 2020-21 के दौरान सरकार अपनी मौजूदा एमएसपी योजनाओं के अनुसार ही किसानों से न्यूनतम समर्थन मूल्य पर खरीफ फसलों की खरीद कर रही है, जिस प्रकार से विगत सत्रों में होती रही है. खरीफ 2020-21 के लिए धान की खरीद सुचारु रूप से चल रही है.

पंजाब, हरियाणा (Haryana) , उत्तर प्रदेश, तेलंगाना, उत्तराखंड, तमिलनाडु (Tamil Nadu), चंडीगढ़, जम्मू (Jammu) और कश्मीर, केरल (Kerala), गुजरात (Gujarat), आंध्र प्रदेश, छत्तीसगढ़, ओडिशा, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, बिहार, झारखंड, असम, कर्नाटक (Karnataka), पश्चिम बंगाल (West Bengal) और त्रिपुरा से धान की खरीद की जा रही है. 18 मार्च 2021 तक इन राज्यों तथा केंद्र शासित प्रदेशों के किसानों से 683.21 लाख मीट्रिक टन से अधिक धान की खरीद की जा चुकी है, जबकि इसी समान अवधि में पिछले वर्ष केवल 601.46 लाख मीट्रिक टन धान की खरीद हो पाई थी.

इस वर्ष में अब तक की गई धान की खरीद में पिछले वर्ष के मुक़ाबले 13.59 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज देखी गई है. 683.21 लाख मीट्रिक टन धान की कुल खरीद में से अकेले पंजाब (Punjab) की हिस्सेदारी 202.82 लाख मीट्रिक टन है, जो कि कुल खरीद का 29.68 प्रतिशत है. लगभग 100.49 लाख किसान वर्तमान खरीफ विपणन सत्र में पहले ही लाभान्वित हो चुके हैं. किसानों को न्यूनतम समर्थन मूल्य पर 1,28,990.50 करोड़ रुपये का भुगतान किया जा चुका है.

Please share this news