Tuesday , 15 June 2021

प्यार में अंधी हुई बेटी प्रेमी के साथ मिलकर पिता को उतारा मौत के घाट

नई दिल्ली (New Delhi) . प्रेम अंधा होता है और इतना अंधा होता है कि लोग अपने खूनी रिश्तों को भी भूल उन्हीं के खून के प्यासे हो जाते हैं. रविवार (Sunday) की सुबह ऐसा ही कुछ वाकया अयोध्या (Ayodhya) में देखने को मिला. एक युवती ने अपने प्रेमी के साथ मिलकर अपने ही पिता की गला घोंटकर हत्या (Murder) कर दी. यह बात उसकी बेटी ने स्वयं स्वीकार किया है.

सूचना मिलते ही पुलिस (Police) सीओ व फोरेंसिक टीम के साथ मौके पर पहुंची और अधेड़ के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया. चक्का मजरे सरैठा गांव निवासी दरबारीलाल रावत ने शनिवार (Saturday) रात को पत्नी सुनीता देवी व लड़की रंजो के साथ भोजन किया. तत्पश्चात वह पत्नी के साथ घर के बाहर रखे छप्पर के नीचे चारपाई पर जाकर लेट गया. रात लगभग 11 बजे बेटी रंजो मां से बोली कि आप जाकर घर में सो जाओ लेकिन मां नहीं गई. कई बार कहने के बाद बेटी की मां सुनीता देवी घर के अंदर सोने चली गयी. रविवार (Sunday) की सुबह चार बजे जब सुनीता अपने पति दरबारीलाल को जगाने के लिए गई तो कई आवाज लगाने के बाद भी वह नहीं उठे. पास आकर देखा तो उनकी मौत हो गई थी. यह देख वह चीखने, चिल्लाने लगीं. देखते ही देखते भीड़ जुट गई.

पुलिस (Police) दोनों को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है लेकिन पड़ोसियों व परिजनों ने दावा किया है कि दरबारी लाल की हत्या (Murder) लड़की व लड़का मिलकर नहीं कर सकते हैं. क्योंकि अगल-बगल 10 से 15 फिट की दूरी पर अन्य कई लोग भी सो रहे थे लेकिन उन सभी को इसकी भनक भी नहीं लगी. शव को देखने से प्रतीत होता है कि मृतक ने अपनी जान बचाने के लिए खूब संघर्ष किया. सीओ रुदौली डॉ. धर्मेंद्र यादव ने बताया कि मृतक की लड़की ने हत्या (Murder) की बात कबूल कर ली है. दोनों को हिरासत में लिया गया है और शव को पीएम के लिए जिला मुख्यालय भेज दिया गया है. छानबीन चल रही है.

Please share this news