Sunday , 25 July 2021

मई में हवाई यात्रियों की संख्या में 63 प्रतिशत ‎गिरावट

कोरोना वायरए से जुड़े प्रतिबंधों और संक्रमण के डर से मई में घरेलू मार्गों पर हवाई यात्रा करने वालों की संख्या में अप्रैल की तुलना में 63 प्रतिशत से अधिक की गिरावट दर्ज की गई. नागर विमानन महानिदेशालय (डीजीसीए) द्वारा जारी ‎किए गए आंकड़ों :के अनुसार मई में 21.15 लाख घरेलू यात्रियों (Passengers) ने सफर किया. यह आंकड़ा अप्रैल के 57.25 लाख यात्रियों (Passengers) की तुलना में 63.06 प्रतिशत कम है. साथ ही यह जुलाई 2020 के बाद का निचला स्तर भी है. किफायती विमान सेवा कंपनी स्पाइस जेट का पीएलएफ अप्रैल के 70.8 प्रतिशत से घटकर मई में 64 प्रतिशत रह गया. इसके बावजूद वह इस मामले में दूसरी एयरलाइंस से आगे रही. इसके बाद क्रमश: गोएयर का पीएलएफ 63.3 प्रतिशत, इंडिगो का 51.2 प्रतिशत, एयर एशिया इंडिया का 44.4 प्रतिशत, स्टार एयर का 41.2 प्रतिशत, विस्तारा का 40.9 प्रतिशत और एयर इंडिया का 39.3 प्रतिशत रहा.यात्रियों (Passengers) की कम संख्या के कारण विमान सेवा कंपनियों ने कई उड़ानें रद्द भी कीं. मई रद्द होने वाली 67.9 प्रतिशत उड़ानों के पीछे कंपनियों ने वाणिज्यिक कारण बताया. इसके बाद 17 प्रतिशत उड़ानों के रद्द होने की वजह मौसम रहा. एयर टैक्सी ने सबसे अधिक 61.29 प्रतिशत उड़ानें रद्द की. एयर इंडिया की 16.34 प्रतिशत, विस्तारा की 9.29 प्रतिशत, एयर एशिया इंडिया की 3.80 प्रतिशत, फ्लाईबिग की 3.57 प्रतिशत, इंडिगो की 3.51 प्रतिशत, स्पाइस जेट की 1.81 प्रतिशत और ट्रू जेट की 1.64 प्रतिशत उड़ानें रद्द हुईं.

Please share this news