Thursday , 13 May 2021

बिकने पहुंची 56 क्विंटल धान जब्त

भोपाल (Bhopal) . प्रदेश के जबलपुर (Jabalpur)‎जिले के पाटन के ग्राम सिमरा में खरीदी केंद्र पर बिकने पहुंची 56 क्विंटल धान जब्त कर ली है. व्यापारी ने धान की खेप को केंद्र से दिए गए सरकारी बारदानों में भरकर भेजा गया था. स्थानीय व्यापारी द्वारा भेजी गई धान की कुछ बोरियां केंद्र के सामने तथा शेष गांव में छिपाकर खड़े किए गए मिनी ट्रक में लोड थीं. गुणवत्ताहीन धान को जब्त कर कार्रवाई के निर्देश दिए गए. तहसीलदार पाटन प्रमोद चतुर्वेदी ने बताया कि पाटन के सिमरा गांव में अवैध धान खरीदी केंद्र का पता चला था. जिसके खिलाफ मंगलवार (Tuesday) को कार्रवाई की गई थी. बुधवार (Wednesday) को पता चला कि व्यापारियों द्वारा भेजी गई धान की खेप अवैध केंद्र में बिकने के लिए भेजी गई है. दबिश देकर केंद्र के सामने पड़ी धान से भरी कई बोरियों को जब्त कर लिया गया. कार्रवाई से पूर्व धान की बोरियों को मिनी ट्रक से उतारा गया था. अधिकारियों के पहुंचने से पहले उतारी जा चुकी धान की बोरियों को छोड़कर मिनी ट्रक (एमपी-20 जे 7437) लेकर चालक गांव में चला गया था. उसने ट्रक को छिपाने की कोशिश की थी, जिसे जब्त कर लिया गया.

वाहन चालक शिवदीन ने बताया कि शिवम ट्रेडर्स उड़ना से धान की खेप को नुनसर क्रमांक-2 में बिक्री के लिए भेजा गया था. वहीं इसी तरह के एक अन्य प्रकरण में ग्राम सिमरा में अमर पटेल द्वारा 289 बोरी धान शासकीय बारदाने में भरी पाई गई थी. धान की तौल की जा चुकी थी. बारदानों में समिति का टैग पाया गया. धान की खेप के समीप 600 शासकीय बारदाने पाए गए. सिमरा में गणपति वेयर हाउस परिसर में अवैध खरीदी केंद्र का संचालन किया जा रहा था. मार्कफेड सूत्रों ने बताया कि अवैध खरीदी केंद्र के लिए वेयर हाउस संचालक सीधे तौर पर जिम्मेदार है. वहीं मंगलवार (Tuesday) को अवैध खरीदी केंद्र का भांडा फूटने के बाद मौके पर मिली 26 हजार क्विंटल धान को जब्त नहीं किया गया. अवैध रूप से खरीदी गई धान का भंडारण भी यहां पाया गया परंतु वेयर हाउस संचालक के खिलाफ कार्रवाई नहीं की गई.

Please share this news