Sunday , 11 April 2021

रोहतक फायरिंग में गोली लगने से घायल 4 साल के बच्चे की मौत, मृतक संख्या 6 हुई

रोहतक (Rohtak) . हरियाणा (Haryana) के रोहतक (Rohtak) स्थित जाट कॉलेज के मेहर सिंह कुश्ती अखाड़े में पिछले सप्ताह हुई गोलीबारी में गंभीर रूप से घायल हुए चार साल के एक बच्चे ने भी दम तोड़ दिया, जिससे इस हत्या (Murder) कांड में मरने वालों की संख्या अब बढ़कर छह हो गई है. स्नातकोत्तर आयुर्विज्ञान संस्थान (पीजीआ ) में बच्चे का इलाज चल रहा था. उसके माता-पिता, मनोज और साक्षी मलिक अखाड़े में हुई गोलीबारी के दौरान मारे गए पांच लोगों में शामिल थे. रोहतक (Rohtak) पुलिस (Police) के एक अधिकारी ने कहा कि सिर में गोली लगने से बच्चा गंभीर रूप से घायल हो गया था. कुश्ती कोच सुखविंदर को हत्या (Murder) कांड को अंजाम देने के आरोप में दिल्ली से गिरफ्तार किया गया था. गोलीबारी में मारे गए लोगों में सतीश नामक एक कुश्ती कोच और एक महिला खिलाड़ी भी शामिल थे.

इस बीच समयपुर बादली थाना पुलिस (Police) ने इलाके में एक कार से एक संदिग्ध की तलाशी में उसके पास से एक पिस्टल और पांच कारतूस बरामद किए. पूछताछ में उसने अपनी पहचान गांव बड़ौदा सोनीपत हरियाणा (Haryana) निवासी सुखविंदर के रूप में बताई और यह भी खुलासा किया कि उसने रोहतक (Rohtak) के जाट कॉलेज अखाड़ा में पांच लोगों की हत्या (Murder) की है. वह वहां पर कुश्ती कोच था. पुलिस (Police) के मुताबिक आरोपी सुखविंदर एक्स सर्विसमैन है. वह जाट कॉलेज में कुश्ती का कोच बन गया था. पुलिस (Police) उससे पूछताछ में जुटी है.

पूछताछ में खुलासा हुआ कि इस आरोपी का मुख्य कोच मनोज मलिक से कुछ दिन पहले कहासुनी हुई थी. मनोज मलिक जाट कॉलेज में अखाड़े के मुख्य कोच थे. उनके साथ पत्नी और उनके बच्चे रहते थे. सुखविंदर वहां ऊपर की मंजिल पर रहता था. रात करीब साढ़े नौ बजे सुखविंदर ने मनोज और उसके परिवार के सदस्यों को गोली मार दी. वहां मौजूद लोगों ने उसे पकड़ने की कोशिश की. इस पर उसने उन लोगों पर भी गोली चलाई और वहां से कार में सवार होकर फरार हो गया. मनोज मलिक जहां मुख्य कोच के पद पर थे, वहीं उनसे पहले सुखविंदर यहां का कोच था. यहां एक साल की ही अनुमति मिलती है. इस कारण दोनों के बीच रंजिश थी.

Please share this news