Monday , 30 March 2020
गुजरात में संभावित कोरोनाग्रस्त क्षेत्र में 30 लाख नागरिकों को सर्वेलन्स किया गया

गुजरात में संभावित कोरोनाग्रस्त क्षेत्र में 30 लाख नागरिकों को सर्वेलन्स किया गया


अहमदाबाद (Ahmedabad) . राज्य के मुख्य सचिव अनिल मुकिम ने बताया कि राज्य में संभावित कोरोनाग्रस्त इलाकों में 30 लाख नागरिकों का सर्वेलन्स किया गया है. कोरोना (Corona virus) की रोकथाम के लिए राज्य सरकार (State government) ने समयबद्ध आयोजन किया है. इसके अंतर्गत जहां कोरोना (Corona virus) के पॉजिटिव केस मिले हैं, ऐसे क्षेत्रों के 30 से ज्यादा नागरिकों का सर्वेलन्स-ट्रेकिंग पूर्ण कर लिया गया है.

जबकि अगले दो सप्ताह में राज्यभर के सभी नागरिकों को सर्वेलन्स पूर्ण किया जाएगा. मंगलवार को मख्यमंत्री विजय रूपाणी और उप मुख्यमंत्री (Chief Minister) नितिन पटेल समेत वरिष्ठ अधिकारियों की कोर समिति की बैठक में किए गए फैसलों की जानकारी देते हुए अनिल मुकिम ने बताया कि कोरोना (Corona virus) के संदर्भ में नागरिकों की सहायता और तत्काल उपचार के लिए राज्य मंत्रिमंडल के सभी सदस्य एक महीने का वेतन मुख्यमंत्री (Chief Minister) राहत कोष में देंगे. राज्य सरकार (State government) ने राज्य में सेवारत संस्थाएं, वाणिज्य संगठन समेत अन्य दाताओं से भी मुख्यमंत्री (Chief Minister) राहत कोष दान देने का अनुरोध किया है.

मुकिम ने कहा कि राज्य के नागरिकों को त्वरित स्वास्थ्य सेवा मुहैया कराने राज्य के सभी सरकारी अस्पतालों में ओपीडी सेवाएं जारी रहेंगी. इसके लिए इंडियन मेडिकल एसोसिएशन ने निजी चिकित्सकों से नि:शुल्क ओपीडी सेवा जारी रखने की अपील की है. मुख्य सचिव ने बताया कि आज राज्य में कोरोना के 110 सैम्पल जांच के लिए भेज गए थे. जिसमें 95 केसों में से 93 मामलों की रिपोर्ट नेगेटिव आई है. केवल दो केस की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है. अन्य केस की रिपोर्ट आना शेष है. राज्य में आज कोरोना के दो नए पॉजिटिव केस सामने आए हैं और दोनों ही केस राजकोट शहर के हैं. मंगलवार तक गुजरात में कोरोना पॉजिटिव के 35 केस दर्ज हुए हैं.