Friday , 25 June 2021

प्रदेश में हर दिन 218 करोड़ लीटर सीवेज निकल रहा

भोपाल (Bhopal) . प्रदेश में करीब पौने चार सौ नगरीय निकायों से हर दिन 218.36 करोड़ लीटर सीवेज निकल रहा है. इसमें से करीब 165 करोड़ लीटर सीवेज सीधे नदी-तालाबों में मिल रहा है. इसका कारण प्रदेश में सिर्फ 27 सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट और 26 फीकल स्लज ट्रीटमेंट प्लांट (एफएसटीपी) ही काम हर रहे हैं. जबकि 79 निर्माणाधीन या बनने हैं. यह खुलासा नेशनल मिशन फॉर क्लीन गंगा के तहत केंद्रीय और राज्य प्रदूषण बोर्ड को मप्र के नगरीय विकास विभाग की ओर से दी गई जानकारी में हुआ.इस जानकारी के आधार पर तैयार प्रोग्रेस रिपोर्ट को एनजीटी के समक्ष पेश किया जाएगा.

बता दें कि प्रदेश के तीन महानगर इंदौर, भोपाल (Bhopal) और ग्वालियर (Gwalior) नेशनल मिशन फार क्लीन गंगा के दायरे में आते हैं. भौगोलिक परिस्थितियों के कारण इन शहरों का वेस्ट वाटर उत्तर दिशा की ओर बहते हुए गंगा और यमुना की सहायक नदियों बेतवा, शिप्रा और चंबल में मिलता है. जबकि चौथा महानगर जबलपुर (Jabalpur)नर्मदा के किनारे पर ही बसा हुआ है.

Please share this news