Tuesday , 15 June 2021

दिल्ली में 100 वर्षीय महिला ने लगवाया कोविड-19 का टीका

नई दिल्ली (New Delhi) .राजधानी दिल्ली में कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच दिल्ली में रहने वाली एक 100 साल की महिला कमला दास ने कोविड-19 (Covid-19) की पहली डोज ली है. उनकी बेटी ने यह जानकारी दी. सिंध में पैदा हुईं कमला दास पिछले साल सितंबर में 100 साल की हुई थीं, जब कोरोना (Corona virus) महामारी (Epidemic) अपने चरम पर थी. दिवंगत मेजर जनरल (सेवानिवृत्त) चंद एन दास की पत्नी कमला दास ने गुरुवार (Thursday) को टीका लगवाया और कहा कि उन्हें किसी तरह का दर्द महसूस नहीं हुआ.

दास की छोटी बेटी ज्योतिका सिकंद ने कहा कि मेरी मां महामारी (Epidemic) के दौरान 100 साल की हुईं और हमने 24 सितंबर से ही मेहमानों को बुलाकर जश्न मनाना शुरू कर दिया था, जो तीन दिन तक चला क्योंकि उस समय भीड़ इकट्ठा होने की अनुमति नहीं थी. मेरे भाई-बहनों को डर था कि वह कोविड-19 (Covid-19) की चपेट में आ सकती हैं, लेकिन हमने सोचा कि उनकी सेहत अच्छी है और हर कोई अपने जीवन का 100वां जन्मदिन नहीं देख पाता. लिहाजा, हमने उनके इस जन्मदिन को खास बनाने का फैसला किया. तीन सितंबर 1920 को पैदा हुईं कमला दास ने यहां बी.एल. कपूर अस्पताल में टीका लगवाया. इससे एक दिन पहले, 1920 में जन्में बृज किशोर गुप्ता ने भी यहीं पर कोविशील्ड टीके की पहली खुराक ली थी. अस्पताल के एक प्रवक्ता ने यह जानकारी दी. राजधानी में गुरुवार (Thursday) को 40 हजार से ज्यादा लाभार्थियों को कोरोना (Corona virus) रोधी टीका लगाया गया.

इस संबंध में एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि गुरुवार (Thursday) को 45 से 59 साल की उम्र वाले 2,892 लाभार्थियों को टीका लगाया गया और 60 वर्ष से अधिक उम्र के 18,976 लोगों को भी टीके की पहली खुराक दी गई. उन्होंने कहा कि कुल 40,564 लोगों को टीका लगाया गया. अधिकारियों ने बताया कि टीके के बाद होने वाले मामूली दुष्प्रभाव का एक मामला सामने आया. उन्होंने कहा कि गुरुवार (Thursday) को 14,010 लोगों को टीके की दूसरी खुराक दी गई. अधिकारियों ने कहा कि फ्रंटलाइन वर्कर के 2,842 कर्मियों और 1,844 स्वास्थ्य कर्मियों को टीके की पहली खुराक दी गई.

Please share this news