रूसी वैक्सीन स्पूतनिक लाइट भारत में तीसरे चरण की अनुमति मिली – Daily Kiran
Wednesday , 20 October 2021

रूसी वैक्सीन स्पूतनिक लाइट भारत में तीसरे चरण की अनुमति मिली

नई दिल्ली (New Delhi) . भारत में जारी कोरोना टीकाकरण को लेकर अच्छी खबर है.रूसी वैक्सीन स्पूतनिक लाइट को भारत में तीसरे चरण के ब्रिजिंग ट्रायल की अनुमति मिल गई है.ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (डीसीजीआई) ने भारतीय आबादी पर टीके के परीक्षण को हरी झंडी दे दी है.डीसीजीआई की सब्जेक्ट एक्सपर्ट कमेटी ने हाल ही में स्पूतनिक लाइट के ट्रायल की सिफारिश की थी.स्पूतनिक लाइट सिंगल डोज वैक्सीन है.इसके पहले जुलाई में सब्जेक्ट एक्सपर्ट कमेटी ऑफ द सेंट्रल ड्रग्स स्टैंडर्ड कंट्रोल ऑर्गेनाइजेशन (सीडीएससीओ) ने स्पूतनिक लाइट को इमरजेंसी (Emergency) यूज ऑथोराइजेशन देने से इनकार कर दिया था. सीडीएससीओ ने रूसी वैक्सीन के स्थानीय ट्रायल को जरूरी बताया था.

कमेटी ने पाया था कि स्पूनतिक लाइट स्पूतनिक वी के कंपोनेंट-1 डेटा के ही समान थी.साथ ही भारतीय आबादी में इसका सेफ्टी और इम्युनोजेनिसिटी डेटा पहले ही ट्रायल में प्राप्त किया जा चुका था. डॉक्टर (doctor) रेड्डीज लेबोरेटरी ने बीते साल रशियन डायरेक्ट इन्वेस्टमेंट फंड (आरडीआईएफ) के साथ भारत में स्पूनतिक वी के तीसरे चरण के ट्रायल के लिए करार किया था.हाल ही में प्रकाशित स्टडी बताती है कि कोविड-19 (Covid-19) के खिलाफ स्पूतनिक लाइट ने 78.6-83.7 फीसदी की प्रभावकारिता दिखाई है.यह दो डोज वाली कई वैक्सीन उम्मीदवारों की तुलना में ज्यादा है.यह स्टडी अर्जेंटीना में कम से कम 40 हजार बुजुर्गों पर की गई थी.

Please share this news

Check Also

टीसी लेने गई छात्रा को शिक्षक ने गलत तरीके से छुआ : दोस्ती करने, संबंध बनाने की बात भी कही

जालौर (Jalore) . राजस्थान (Rajasthan) में सरकारी स्कूलों में छात्राओं से छेड़छाड़ के मामले बढ़ते …