Saturday , 4 April 2020
रांची में बेवजह घूमने वालों पर सख्ती, 4 दिन में कटे 45 लाख के चालान

रांची में बेवजह घूमने वालों पर सख्ती, 4 दिन में कटे 45 लाख के चालान


रांची (Ranchi) . कोरोनावायरस को लेकर पूर्ण लॉकडाउन (Lockdown) के बावजूद लोग नहीं मान रहे हैं. और राजधानी की सड़कों पर निकल रहे हैं. ऐसे में पुलिस (Police) को सख्ती करनी पड़ रही है. बुधवार (Wednesday) को रांची (Ranchi) पुलिस (Police) ने सड़कों पर बेवजह घूमने वालों को करीब 15 लाख रुपए का चालान काटा. जबकि बीते रविवार (Sunday) से शुरू लॉकडाउन (Lockdown) के चार दिन में कुल 45 लाख रुपए के चालान काटे गए हैं.

राजधानी के मेनरोड, बरियातु, करमटोली चौक, कोकर जैसे इलाकों में बिना जरूरी के लोग बाइक पर घूमते नजर आए. ऐसे लोगों को पुलिस (Police) ने उठक-बैठक कराकर घर जाने की हिदायत दी. कई जगहों पर पुलिस (Police) को बल का भी प्रयोग करना पड़ा. डोरंडा में पुलिस (Police) ने युवकों को अड्डेबाजी करते पाया, जिसके बाद उनलोगों पर लाठी भांजकर मौके से खदेड़ दिया गया. किशोरगंज में बेवजह निकलने वालों को पुलिस (Police) ने हिदायत देकर घर वापस भेज दिया. बुंडू और अरगोड़ा में पुलिस (Police) ने ‘मैं समाज का दुश्मन हूं, घर पर नहीं बैठ सकता’ लिखा पोस्टर लोगों को देकर खड़ा कर दिया.

ट्रैफिक एसपी सह प्रभारी सिटी एसपी अजीत पीटर डुंगडुंग ने एजी मोड़ और सुजाता चौक पर वाहनों को पकड़कर चालक समेत थाने के हवाले कर दिया. अबतक लॉकडाउन (Lockdown) का उल्लंघन करने पर शहर के विभिन्न थानों में 23 मामले दर्ज किये गये हैं. इनमें सड़कों पर बेवजह घूमने वाले और गैर जरूरी दुकान खोलने वाले शामिल हैं. पुलिस (Police) ने 15 सौ ज्यादा वाहनों के चालान काटे हैं. उघर, रांची (Ranchi) से सटे गांवों में ग्रामीण खुद लॉकडाउन (Lockdown) कर कोरोना की जंग में अपना साथ दे रहे हैं. ग्रामीण ने गांव में बैरियर लगाकर बाहरी लोगों के प्रवेश पर रोक लगा दी है.