Thursday , 25 February 2021

यदि किसी ने फिल्म बनाई है, उसका सम्मान कीजिए: अभिनेता भार्गव पोलुदासू

नई दिल्ली (New Delhi) . एक माँ को अपनी बेटी के लैपटॉप में गलती से उसका नग्न वीडियो मिल जाता है – ओरु पाथिरा स्‍वपनम पोल (भारतीय पैनोरमा गैर-फीचर फिल्म) शरण वेणुगोपाल द्वारा. एक व्यक्ति जो एक दुर्घटना में अपनी याददाश्त खो देता है और एक मनोरोगी के साथ एक घर में फंस जाता है – किरण कोंडमादुगुला द्वारा गाथम (भारतीय पैनोरमा फीचर फिल्म). लोगों के सामने पहली बार उपस्थित फिल्म निर्माता शरण वेणुगोपाल और अभिनेता / निर्माता भार्गव पोलुदासु ने आज पणजी (Panaji) में भारत के 51 वें अंतर्राष्ट्रीय फिल्म समारोह में एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित किया.

उनकी फिल्मों को इस वर्ष आईएफएफआई के भारतीय पैनोरमा में चुना गया है. अपनी 37 मिनट की मलयालम गैर-फीचर फिल्म (ओरु पाथिरा स्वप्न पोल) के बारे में बात करते हुए, शरण वेणुगोपाल ने कहा, “यह परिभाषित करना बहुत कठिन है कि किसी की व्यक्तिगत सीमाएं कहां समाप्त होती हैं. फिल्म का कथानक इसी पर है. इसका शीर्षक “लाइक ए मिडनाइट ड्रीम” की व्याख्या करता है. फिल्म के बारे में बात करते हुए, वेणुगोपाल ने कहा, “हमने मार्च 2020 के दौरान इस फिल्म की शूटिंग की; जिसके बाद देशव्यापी लॉकडाउन (Lockdown) की घोषणा कर दी गई. हमें संदेह था कि हमारी फिल्म प्रदर्शित भी हो पाएगी या नहीं. लेकिन हमें खुशी और संतोष है कि इस वर्ष आईएफएफआई के भारतीय पैनोरमा के तहत हमारी फिल्म का चयन हुआ और उसे दिखाया जा रहा है.

Please share this news