Sunday , 18 April 2021

मोहखेड में अतिक्रमण हटाओं अभियान

मोहखेड़ . उमरानाला-सावरी सडक मार्ग पर ग्राम मोहखेड बस्ती में 36 फीट दायरे में सड़कों पर जो भी निर्माण दिखे प्रशासनिक अमले ने उन्हें बड़ी मशीनों से ढहा दिए. प्रशासन पहले ही इन लोगों को अतिक्रमण हटा लेने की चेतावनी दे चुका था. जिन लोगो ंने सरकारी जमीन से कब्जे नहीं हटाए उन्हें आज भारी मशीनों ने जमीदोज कर दिया. लगभ छह महीने से अतिक्रमण हटाने की बात प्रशासन कर रहा था. समय देने के बाद भी कई लोगों ने जगह खाली नहीं की थी. रविवार (Sunday) को प्रशासन का डंडा चला. इस दौरान सौंसर एसडीएम कुमार सत्यम खुद सड़क पर उतरे.

कब्रिस्तान से पुलिस (Police) थाना तक के हटे कब्जे

मोहखेड बस्ती सड़क चौडीकरण में आ रही बाधाओं से निजात दिलाने के लिए प्रशासन ने कमर कस ली थी. जिलाधिकारी के निर्देश पर रविवार (Sunday) को अभियान चलाकर सड़क किनारे अवैध अतिक्रमण को खाली कराया गया. इस दौरान प्रशासन ने जेसीबी मशीन से सरकारी जमीन पर अतिक्रमणकारियों के बने अवैध निर्माण को भी ध्वस्त कर दिया. कई दुकानदारों ने सडक पर ही होल्डिग व पोस्टर लगा रखे थे. पुलिस (Police) प्रशासन की इस कार्रवाई को देखते हुए वे अपना अपना होल्डिग बैनर निकालते नजर आए. तहसीलदार दशरिया ने बताया कि जिलाधिकारी के आदेश पर आधा सैंकडो व्यक्तियों को सरकारी जमीन से अतिक्रमण हटाया गया. उन्होंने बताया कि सरकारी भूमि पर बने अवैध निर्माण को भी घ्वस्त किया गया है. मौके पर सौंसर एसडीओपी एसपी सिंग,थाना प्रभारी अनिल उइके,राजस्व निरीक्षक लोकचंद्र पटले,प्रवीणसिंह ठाकुर,पटवारी हजारीलाल जंघेला, मंगलदास चौरिया,राजेश मान्द्रेकर,ब्रजेश धुर्वे, अनंत दानी,आदिती भार्गव,संध्या कंगाले,सविता मरावी,पल्लवी राय समेत काफी संख्या में पुलिस (Police) बल मौजूद रहे.
पहले तो डटे फिर चुपचाप हटा लिया सामान

कब्रिस्तान से थाना के बीच मुख्य मार्ग से अतिक्रमण को खाली कराया. इस दौरान सछक किनारे लगाए गए फास्ट फूड और अन्य काउंटर सहित फल सब्जी के ठेले भी हटाए गए. पहले तो कुछ दुकानदार देखते रहे लेकिन प्रशासन की कार्रवाई की मंशा को दखेते हुए दुकानदारों ने अपने सामान उठाकर वहां से खिसक जाना ही बेहतर समझा. तहसीलदार मीना दशरिया ने बताया कि अतिक्रमण के कारण राहगीरों एव वाहनो में काफी परेशानी हो रही थी. इससे सड़क जाम की समस्या भी उत्पन्न होती है. सडक चौडीकरण में आ रही बाधा को लेकर निर्माण एजेंसी ने इसकी शिकायत की थी. उन्होंने बताया कि जिलाधिकारी के आदेश पर मोहखेड बस्ती में अतिक्रमण हटाया गया.

मोहखेड बस्ती में भी आज अतिक्रमण हटाया गया. बाजार चौक में लगे बरगद के पेड़ को जब जेसीबी मशीन से हटाया गया तब बरगद के पेड़ पर चिड़ियों का बनाया घोंसला भी टूटकर नीचे गिर पड़ा. इसमें से घबराते हुए चिड़िया निकली. घबराहट में उड़ते हुए वह अधिकारियों के कंधों पर आकर बैठ गई. कभी एसडीओपी के हाथ पर तो कभी आर्र कभी पुलिस (Police) वाले के कंधे पर. जैसे पूछ रही हो कि इसमें मेरा क्या कसूर अब हम कहां जाएं. अधिकारी भी मुस्कुराते हुए इन पक्षियों को देखते रहे..

Please share this news