Wednesday , 23 June 2021

मां जानकी करीला धाम मेला में राई नृत्य आयोजित नहीं किए जाएंगे

सागर . कोरोना (Corona virus) संक्रमण के मद्देनजर आगामी करीला मेला हेतु जारी सूचनाओं का संबंधित सागर जिले में अधिक से अधिक प्रचार प्रसार कराये जाने के संबंध में अशोकनगर कलेक्टर (Collector) अभय वर्मा द्वारा सागर कलेक्टर (Collector) दीपक सिंह एवं पुलिस (Police) अधीक्षक अतुल सिंह को पत्र लिखा गया है.

पत्र के अनुसार जिला संकट प्रबंधन समूह तथा मां जानकी करीला मंदिर ट्रस्ट की बैठक में कोरोना महामारी (Epidemic) को.ष्टिगत रखते हुए आगामी रंगपंचमी पर एक से 03 अप्रैल 2021 तक करीला मेला के आयोजन के संबंध में सर्वसम्मति से लिए गए निर्णयों मेला में माता जानकी के दर्शन हेतु कम से कम श्रद्धालु पहुंचने, मेले में श्रद्धालु कोरोना गाईडलाईन का पालन करते हुए दर्शन करने, मेले में परिवार से केवल ही एक सदस्य मेले में दर्शन के लिए आने, मेला में आने वाले श्रद्धालु अपने साथ परिवार के 60 वर्ष से अधिक आयु के वरिष्ठ नागरिक एवं 18 वर्ष से कम आयु के बच्चों को न लाने, करीला धाम परिसर में झूला, सर्कस एवं खेल खिलौनों एवं अन्य दुकानों पर प्रतिबंध रहने, करीला में केवल पूजन प्रसाद सामग्री एवं खानें एवं फलों की दुकानों के अतिरिक्त अन्य दुकानें प्रतिबंधित रहने, करीला परिसर में अनावश्यक भीड़ एकत्रित न हो इस हेतु मेला परिसर में राई नृत्य पर भी प्रतिबंध रहने, मेले के दौरान मेला स्थल पर शराब पीने, बेचने पर संबंधितों के विरूद्ध 5 हजार रूपए तक की राशि का जुर्माना किए जाने की जानकारी जिले के जनमानस तक दिए जाने का अनुरोध किया गया है.

जिले से आने वाले श्रद्धालुओं को ग्राम पंचायतों के माध्यमों से डोडी पिटवाकर, बैनर, पोस्टर एवं अन्य प्रचार प्रसार इलेक्ट्रॉनिक, प्रिंट तथा सोशल मीडिया (Media) के माध्यमों से लोगों को अनावश्यक भीड़-भाड़ से बचने के लिए जागरूकता संदेश जन सामान्य तक पहुंचाया जाए.

Please share this news