Sunday , 18 April 2021

मप्र में कल से शीतलहर चलने के आसार

भोपाल (Bhopal) . मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) के कुछ ‎जिलों में कल से शीतलहर चलने के पूरे आसार है. इसकी वजह जम्मू-कश्मीर सहित उत्तर भारत के पहाड़ी क्षेत्रों में जबरदस्त बर्फबारी होना है. वर्तमान में एक पश्चिमी विक्षोभ उत्तर भारत में सक्रिय है. उसके प्रभाव से पंजाब, हरियाणा (Haryana) और पश्चिमी उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में बारिश होने की भी संभावना है. मौसम विज्ञानियों के मुताबिक पश्चिमी विक्षोभ के कारण राजस्थान (Rajasthan)पर एक प्रेरित चक्रवात बना हुआ है. इस वजह से मध्य प्रदेश में वर्तमान में हवा का रुख दक्षिणी और दक्षिण-पश्चिमी बना हुआ है. इससे अभी दिन और रात के तापमान में गिरावट नहीं हो रही है. सोमवार (Monday) को पश्चिमी विक्षोभ के आगे बढ़ने के बाद मंगलवार (Tuesday) से हवा का रुख उत्तरी होने लगेगा. इससे न्यूनतम तापमान में गिरावट का सिलसिला शुरू होने लगेगा.

वरिष्ठ मौसम विज्ञानी अजय शुक्ला ने बताया कि वर्तमान में एक पश्चिमी विक्षोभ उत्तरी पाकिस्तान और उससे लगे जम्मू-कश्मीर पर बना हुआ है. उसके प्रभाव से जबर्दस्त बर्फबारी हो रही है, लेकिन पश्चिमी विक्षोभ के असर से राजस्थान (Rajasthan)पर एक प्रेरित चक्रवात बन गया है. इस वजह से हवा का रुख उत्तरी, उत्तर-पूर्वी से बदलकर रविवार (Sunday) को दक्षिणी और दक्षिण-पश्चिमी हो गया है. इसके चलते मप्र में अधिकतम और न्यूनतम तापमान में गिरावट नहीं हो रही है.

शुक्ला के मुताबिक मंगलवार (Tuesday) को ग्वालियर (Gwalior), चंबल और सागर संभाग के जिलों में कहीं-कहीं शीतलहर भी चल सकती है. ठंड के तीखे तेवर तीन जनवरी तक बने रहने की संभावना है. इसके बाद एक बार फिर मौसम के मिजाज में परिवर्तन होगा. पश्चिमी विक्षोभ के सोमवार (Monday) को उत्तर भारत से आगे बढ़ने की संभावना है. इससे राजस्थान (Rajasthan)पर बना प्रेरित चक्रवात भी समाप्त हो जाएगा. इससे हवा का रुख बदलकर फिर उत्तरी होने लगेगा. इससे उत्तर भारत की तरफ से आने वाली सर्द हवाओं के कारण दिन और रात के तापमान में तेजी से गिरावट होने लगेगी.

Please share this news