Monday , 27 January 2020
पाक रेल मंत्री ने प्रधानमंत्री मोदी की तुलना हिटलर-मुसोलिनी से की

पाक रेल मंत्री ने प्रधानमंत्री मोदी की तुलना हिटलर-मुसोलिनी से की


लाहौर . भारत के नागरिकता कानून पर पाकिस्तान की तरफ से गैर-जरूरी प्रतिक्रियाओं का दौर जारी है. प्रधानमंत्री इमरान खान के बाद अब रेल मंत्री शेख राशिद अहमद ने ‎विवा‎दित बयान ‎दिया है. उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तुलना तानाशाह मुसोलिनी और हिटलर से की है. उन्होंने एक बार फिर दोनों देशों के बीच युद्ध की आशंका जाहिर कर दी.

उन्होंने लाहौर में एक कार्यक्रम के दौरान कहा ‎कि यह हमारी जिम्मेदारी है कि हमें कश्मीर व भारत के मुसलमानों को साथ खड़े रहें. जिस तरह से भारत के मोदी मुसोलिनी हिटलर भारतीय मुसलमानों के लिए समस्या खड़ी कर रहे हैं, उससे भारत-पाकिस्तान के बीच की दूरी और बढ़ेगी और यह दोनों देशों के बीच युद्ध की स्थिति पैदा करेगा. राशिद का बयान ऐसे समय में आया है जब भारतीय विदेश मंत्रालय ने पाक को दो-टूक कहा है कि वह हमारे अंदरूनी मामले में हस्तक्षेप करने की जगह अपने घर के मामले देखे.

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा ‎कि पाक पीएम इमरान खान को बेतुके बयान देने की जगह अपने देश में अल्पसंख्यकों की स्थिति पर ध्यान देना चाहिए. इसके अलावा भारत के आंतरिक मामलों पर बयानबाजी करने से भी बचना चाहिए. इमरान ने नागरिकता कानून पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए ट्वीट किया था ‎कि हम भारत के इस विधेयक की सख्त निंदा करते हैं जो अंतरराष्ट्रीय कानूनों के सारे मानदंडों और पाकिस्तान सरकार के साथ द्विपक्षीय समझौतों का उल्लंघन करता है.

उल्लेखनीय है कि आर्टिकल 370 से जुड़े फैसले आने के बाद भी पाकिस्तान ने जहरीले बयान देने शुरू किए थे और यहां तक कि वह इस मुद्दे को लेकर संयुक्त राष्ट्र भी पहुंच गया था, जहां भारतीय प्रतिनिधियों ने अपने अकाट्य तर्कों से उसे करार जवाब दिया था.