Saturday , 6 June 2020
नोएडा में छात्रों पर फीस के लिए दबाव बनाया तो होगी दो साल की जेल, सभी शिक्षण संस्थानों को डीएम ने दिए आदेश

नोएडा में छात्रों पर फीस के लिए दबाव बनाया तो होगी दो साल की जेल, सभी शिक्षण संस्थानों को डीएम ने दिए आदेश


नोएडा (Noida) . गौतमबुद्ध नगर जिले के स्कूल-कॉलेजों में पढ़ने वाले लाखों बच्चों और उनके अभिभावकों को राहत मिली है. गौतमबुद्ध जिला प्रशासन ने सभी प्राइवेट स्कूल-कॉलेजों सहित तमाम शिक्षण संस्थानों को कोरोना (Corona virus) वैश्विक महामारी की वजह से लागू किए गए लॉकडाउन (Lockdown) के दौरान छात्र-छात्राओं से फीस नहीं मांगने के आदेश दिए हैं. अगर शिक्षण संस्थाओं ने छात्रों पर फीस के लिए दबाव बनाया, तो उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी.

जिलाधिकारी सुहास एल.वाई.ने गौतमबुद्ध नगर की सभी शिक्षण संस्थाओं को जारी आदेश में कहा कि पूरा देश महामारी की चपेट में है. कोरोना (Corona virus) के कारण बंद लागू है और ऐसे में कोई शिक्षण संस्थान छात्र-छात्राओं एवं उनके अभिभावकों से फीस की मांग नहीं करेगा. उन्होंने कहा कि यदि कोई संस्थान फीस की मांग करता है अथवा इसके लिए अनावश्यक दबाव बनाता है, तो उसके खिलाफ जुर्माना लगाने के साथ ही एक से लेकर दो साल तक की जेल भेजने जैसी सख्त कार्रवाई की जाएगी.

जो शिक्षण संस्थान ऑनलाइन पढ़ाई करा रहे हैं, वे फीस न मिलने पर छात्रों को पढ़ाई से वंचित नहीं रख सकते. गौतमबुध नगर में कई नामी स्कूल, कॉलेज एवं यूनिवर्सिटी हैं. यहां केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) से संबंधित स्कूलों की संख्या ज्यादा है. जिलाधिकारी ने यह आदेश सभी शैक्षिक संस्थाओं के लिए जारी किया है.