Tuesday , 27 October 2020

कोरोनावायरस मरीजों की संख्या 33 लाख के पार, मृतकों की संख्या 60 हजार से ऊपर, 25 लाख से ज्यादा ठीक हुए


नई दिल्ली (New Delhi) . बुधवार (Wednesday) को भारत में कोरोना संक्रमण के अनेक रिकॉर्ड ध्वस्त हुए. रात 10 बजे तक पहली बार देश में 71,827 नए मरीज मिलने के साथ ही पीड़ितों की संख्या बढ़कर 33,03,581 हो गई. इनमें से 25,20,181 ठीक हो चुके हैं जबकि 60,592 की मौत हो गई है. इसी रफ्तार से संक्रमण में बढ़ता रहा तो 1 हफ्ते के भीतर भारत ब्राजील को पीछे छोड़कर दूसरे नंबर पर पहुंच सकता है.

बुधवार (Wednesday) को महाराष्ट्र (Maharashtra) में पहली बार 14,888 नए कोरोनावायरस मिलने के साथ ही पीड़ितों की संख्या 7,18,711 हो गई. इस प्रकार भारत के लगभग 23% मरीज अकेले महाराष्ट्र (Maharashtra) में हैं. यहां पर अब तक 23,089 लोगों की कोरोना के चलते जान चली गई है. जबकि 5,22,427 ठीक हो चुके हैं. बुधवार (Wednesday) को तमिलनाडु में 5958, आंध्र प्रदेश (Andra Pradesh)में 10,830, कर्नाटक (Karnataka) में 8580, उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में 5640, दिल्ली में 1693, पश्चिम बंगाल (West Bengal) में 2974, बिहार (Bihar)में 2163, तेलंगाना में 3018, ओडिशा में 3371, गुजरात में 1197, राजस्थान (Rajasthan) में 1345, केरल में 2476, हरियाणा (Haryana) में 1397, मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) में 1064, पंजाब (Punjab) में 1513, छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) में 1045, नए संक्रमित मरीज मिले. इस प्रकार देश के 18 राज्य ऐसे हैं जहां पर प्रतिदिन 1000 से ऊपर नए संक्रमित मरीज मिल रहे हैं. इनमें भी लगभग 10 राज्य ऐसे हैं जहां 2000 से लेकर 14,000 के बीच नए संक्रमित मरीज मिल रहे हैं.

संक्रमण की इस रफ्तार को प्रतिदिन बढ़ती टेस्टिंग से जोड़कर देखा जा रहा है. देश में 10 लाख से ऊपर टेस्ट प्रतिदिन हो रहे हैं. इस प्रकार कोरोना का फैलाव लगभग 7% है. विश्व स्वास्थ्य संगठन (World Health Organization) का कहना है कि 5% से अधिक फैलाव होने पर कोरोनावायरस नियंत्रित नहीं माना जाता. जिस तेजी से संक्रमण बढ़ रहा है, उसे देख कर केवल यही कहा जा सकता है कि भारत में कोरोना के प्रसार को रोकने के लिए वैक्सीन ही कारगर होगा. हालाँकि मृत्यु दर में अपेक्षाकृत कमी देखने को मिली है लेकिन मरीजों की बढ़ती संख्या देश की स्वास्थ्य सेवाओं के लिए चुनौतीपूर्ण होती जा रही है.

छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) – केरल जैसे छोटे राज्यों में बड़ी संख्या में मरीजों का मिलना चिंताजनक है. कई छोटे कस्बों और शहरों से भी बड़ी तादाद में कोरोना संक्रमित मरीज मिल रहे हैं. कुछ इलाकों में ग्रामीण क्षेत्रों में भी कोरोनावायरस का संक्रमण फैल गया है.