Friday , 16 April 2021

करोड़ों के फ्लाइओवर पर घुप अंधेरे में चलने को मजबूर है शहरवासी

सौंसर . करोड़ों रुपए के फ्लाइओवर बनने के बाद लोग भीड़भाड़ और जाम से बचने के लिए इस मार्ग से जाने का रास्ता मिलने से खुश थे लेकिन अब यही फ्लाईओवर उनके लिए तकलीफ साबित हो रहा है. फ्लाईओवर का निर्माण तो करोड़ों की राशि से कर दिया गया लेकिन यहां इस समय घुप अंधेरा पसरा हुआ है. लोगों को रात में इसपर से निकलने में डर लगता है. लाइट न होने के कारण बेहद परेशानी होती है. सामने से आ रहे वाहनों की लाइट की चकाचौंध में लोग अपना संतुलन खो रहे हैं और हादसे का शिकार हो रहे हैं. इस मामले में प्रशासन कोई सुध ले रहा है न एनएचएआई के अधिकारी.

करोड़ों रुपए की लागत से सौसर नगर में एनएचएआई के द्वारा फ्लाईओवर का निर्माण किया गया. यह फ्लाईओवर अब दुर्घटनाओं को आमंत्रित कर रहा है. इस पुल से आए दिन रात्रि के समय में दो पहिया वाहन चालक अंधेरे के कारण दुर्घटनाग्रस्त हो रहे है. मिली जानकारी के अनुसार विगत कई महीनों से नगर के सबसे बड़े फ्लाईओवर पर लगाई गई लाइट बंद पड़ी हुई है. शाम होते ही इस फ्लाईओवर पर घनघोर अंधेरा हो जाता है. रात्रि के समय में यहां पर बेखौफ बड़े कंटेनर, ओवर लोड ट्रक तेज गति से निकलते हैं. अंधेरा होने के चलते दोपहिया वाहन चालकों को रास्ता नजर नहीं आता है और वह दुर्घटना का शिकार होते हैं.

बीते दिनों जंनपद पंचायत की त्रैमासिक समीक्षा बैठक में विधायक विजय चौरे के द्वारा भी नगर के मोहगाव चौक और फ्लाईओवर पर बंद पड़ी हुई स्ट्रीट लाइट को शुरू करने को लेकर अधिकारियों को हिदायतें दी थी. बावजूद इसके अब तक स्ट्रीट लाइट शुरू नहीं हो पाई है. हालांकि स्ट्रीट लाइट शुरू करने की मांग को लेकर पूर्व में स्वयंसेवी संगठनों के द्वारा भी प्रशासन के अधिकारियों का ध्यान आकर्षित किया था. फ्लाईओवर की स्ट्रीट लाइट बंद और अंधेरे का खामियाजा फ्लाईओवर से गुजरने वाले दो पहिया वाहन चालकों को अपनी जान की बाजी लगाकर चुकाना पड़ रहा है.

Please share this news