Friday , 14 May 2021

आसमान पर छाए बादल छंटे, खिली धूप

भोपाल (Bhopal) . करीब सप्ताह भर से प्रदेश के आसमानों पर डेरा जमाए बादल अब धीरे-धीरे छंट गए है और धूप खिल गई है. धूप ‎निकलने के साथ ही अब दिन का तापमान बढने एवं रात का तापमान घटने की पूरी संभावना जताई जा रही है.

मौसम विभाग के अनुसार, पिछले चार दिनों से सक्रिय तीन वेदर सिस्टम अब कमजोर पड़ गए हैं. इस वजह से बुधवार (Wednesday) से मौसम साफ होने की संभावना है. बादलों के छंटने से जहां दिन के तापमान में इजाफा होने लगेगा, वहीं रात के तापमान में धीरे-धीरे गिरावट दर्ज होने लगेगी. उधर दो दिन बाद एक और पश्चिमी विक्षोभ के उत्तर भारत में सक्रिय होने से शुक्रवार (Friday) से मध्य प्रदेश में फिर बारिश का दौर शुरू होने के आसार है. रुक-रुक कर बरसात होने का सिलसिला प्रदेश के अलग-अलग स्थानों पर तीन-चार दिन तक जारी रह सकता है. इस दौरान कहीं-कहीं तेज बौछारें भी पड़ सकती हैं.उधर न्यूनतम तापमान में कुछ गिरावट दर्ज होने लगेगी. उधर, सात जनवरी को एक अन्य पश्चिमी विक्षोभ के उत्तर भारत में दाखिल होने के आसार हैं. इसके प्रभाव से शुक्रवार (Friday) से एक बार फिर मौसम का मिजाज गड़बड़ होने लगेगा. बादल छाएंगे और प्रदेश के अलग-अलग स्थानों पर रुक-रुककर बारिश का सिलसिला शुरू होने की संभावना है. इस तरह की स्थिति 10-11 जनवरी तक बनी रह सकती है. इस दौरान कहीं-कहीं झमाझम बारिश भी हो सकती है.

वरिष्ठ मौसम विज्ञानी अजय शुक्ला ने बताया कि वर्तमान में एक पश्चिमी विक्षोभ पाकिस्तान और उससे लगे जम्मू-कश्मीर पर सक्रिय है. इसके प्रभाव से दक्षिण-पश्चिमी राजस्थान (Rajasthan)पर एक प्रेरित चक्रवात बना हुआ है. इसके अतिरिक्त अरब सागर से गुजरात (Gujarat) और राजस्थान (Rajasthan)पर बने चक्रवात से होकर एक ट्रफ (द्रोणिका लाइन) पंजाब (Punjab) तक बना हुआ है. इन तीन वेदर सिस्टम के सक्रिय होने के कारण वातावरण में लगातार आ रही नमी से चार दिन से मध्य प्रदेश में मौसम का मिजाज बिगड़ा हुआ था. बौछारें पड़ने और बादलों की मौजूदगी के कारण दिन के तापमान गिरे हुए थे. रात के तापमान बढ़े हुए थे. इससे वातावरण से ठंड गायब थी. अब तीनों सिस्टम कमजोर पड़ गए हैं. इस वजह से बारिश की गतिविधियां थम गई हैं. बुधवार (Wednesday) से धीरे-धीरे बादल भी छंटना शुरू होने लगेंगे. इससे धूप निकलेगी और अधिकतम तापमान बढ़ने लगेंगे.

Please share this news