Wednesday , 14 April 2021

हां वो बिहार ते सीएम नहीं बनना चाहते थे, भाजपा नेता सुशील मोदी ने नीतीश की बात का किया समर्थन


पटना (Patna) . बिहार (Bihar) की सियासत में सुशासन बाबू उर्फ नीतीश कुमार के एक बयान का समर्थन करते हुए पूर्व डिप्टी सीएम और वर्तमान में भाजपा के राज्यसभा सांसद (Member of parliament) सुशील मोदी ने मुख्यमंत्री (Chief Minister) नीतीश की बातों का समर्थन करते हुए कहा कि- हां वो मुख्यमंत्री (Chief Minister) नहीं बनना चाहते थे लेकिन भाजपा और जदयू के नेताओं ने कहा कि हम लोगों ने उनके नाम और विजन पर बिहार (Bihar) चुनाव लड़ा. लोगों ने उनके नाम पर हमें वोट दिया. इसके बाद उन्होंने जेडीयू, भाजपा और वीआईपी नेताओं के कहने पर सीएम पद स्वीकारा.

आपको बता दें कि एक दिन पहले रविवार (Sunday) को जदयू की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में नीतीश ने ये कहते हुए राजनीति में सबको चौंका दिया था कि वर्ष 2020 के चुनाव के बाद उन्हें मुख्यमंत्री (Chief Minister) बनने की इच्छा नहीं थी. उन्होंने भाजपा नेतृत्व के समक्ष भी यह बात रखी थी कि वे मुख्यमंत्री (Chief Minister) बनना नहीं चाहते हैं. भाजपा की ओर से ही कोई मुख्यमंत्री (Chief Minister) बने. पर, भाजपा नेतृत्व इस पर राजी नहीं हुआ और मुझे पर मुख्यमंत्री (Chief Minister) बनने का दबाव डाला गया.

बता दें कि राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक के दौरान ही नीतीश कुमार ने जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष पद छोड़ने की घोषणा करते हुए पार्टी के राज्यसभा सांसद (Member of parliament) आरसीपी सिंह को जदयू का नया राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाया है. मुख्यमंत्री (Chief Minister) और पार्टी के निवर्तमान राष्ट्रीय अध्यक्ष नीतीश कुमार ने खुद आरसीपी सिंह को अध्यक्ष बनाने का प्रस्ताव राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में पेश किया था. इस पर कार्यकारिणी ने सर्वसम्मति से सहमति दी और फिर राष्ट्रीय परिषद ने भी इस पर मुहर लगा दी.

Please share this news