Friday , 14 May 2021

कोविड के खिलाफ दुनिया का सबसे बड़ा टीकाकरण शुरू

नई दिल्‍ली . पिछले करीब एक साल से घातक महामारी (Epidemic) कोविड 19 से जूझने के बाद भारत में शनिवार (Saturday) को इसके खिलाफ दुनिया का सबसे बड़ा टीकाकरण अभियान शुरू हो गया. कोविड टीकाकरण अभियान की शुरुआत कर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) ने देशवासियों से अपील करते हुए कहा कि वे वैक्‍सीन को लेकर किसी तरह भी अफवाहों पर यकीन न करें.

vaccination-starts

देश में कोरोना वैक्‍सीनेशन की शुरुआत हो चुकी है. शनिवार (Saturday) को वीडियो कॉन्‍फ्रेंसिंग के जरिए पीएम नरेंद्र मोदी ने टीकाकरण अभियान को हरी झंडी दिखाई. इस मौके पर मोदी ने कहा कि पूरे देश को बेसब्री से इस दिन का इंतजार था.

उन्‍होंने कहा कि भारतीय वैज्ञानिकों ने पूरी तरह से जांच-परख कर कोरोना वैक्सीन तैयार की है. देशवासियों से मेरी अपील है कि वैक्सीन के खिलाफ किए जा रहे झूठे प्रोपेगेंडा पर ध्यान न दें. यह वैक्सीन पूरी तरह से सुरक्षित और कोरोना को हराने में कारगर है.

दिल्ली एम्स के डायरेक्टर डॉ. रणदीप गुलेरिया को भी कोरोना वैक्सीन की पहली डोज दी गई. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन भी मौजूद रहे. डॉ. हर्षवर्धन ने कहा कि आज शुरू किया गया कोविड टीकाकरण अभियान दुनिया में कोविड के खिलाफ सबसे बड़ा टीकाकरण अभियान है.

स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री ने कहा कि भारत के पास ऐसे संक्रमण से निपटने का पर्याप्‍त अनुभव है. देश पहले ही पोलियो और चेचक का उन्मूलन कर चुका है. उन्होंने कहा कि देश, कोविड के खिलाफ युद्ध में एक निर्णायक चरण में पहुंच गया है.

सरकार के मुताबिक, सबसे पहले एक करोड़ स्वास्थ्यकर्मियों, अग्रिम मोर्चे पर काम करने वाले करीब दो करोड़ कर्मियों और फिर 50 साल से ज्यादा उम्र के लोगों को टीके की खुराक दी जाएगी. बाद के चरण में गंभीर रूप से बीमार 50 साल से कम उम्र के लोगों का टीकाकरण होगा. स्वास्थ्यकर्मियों और अग्रिम मोर्चे पर तैनात कर्मियों पर टीकाकरण का खर्च सरकार वहन करेगी.


News 2021

Please share this news