Wednesday , 16 June 2021

मानव तस्करी मामले में मास्टर माइंड कौन

जबलपुर, 19 मार्च . बेबस लड़कियों की तस्करी के मामले में कई पहलू आज भी अनसुलझी पहेली बने हुये हैं. मानव तस्करी के इस पूरे नेक्सेस का मास्टर कौन है, वो अब भी किसी को नहीं पता. मामले की जांच फिर वहीं आकर खड़ी दिखाई दे रही है जहां से शुुरु हुई थी. युवतियों को राजस्थान (Rajasthan)में बेचने वाले गिरोह के फरार दो मुख्य आरोपियों की तलाश में राजस्थान (Rajasthan)गई पुलिस (Police) की टीम खाली हाथ वापस लौट आई है. जानकारी के मुताबिक कई दिनों तक आरोपियों की तलाश में पुलिस (Police) की टीम ने राजस्थान (Rajasthan)के कई शहरों एवं कस्बों में छानबीन की, जिसमें पता चला कि एक आरोपी सुरेश सिंह दिल की बीमारी से पीड़ित है और गंभीर हालत में अस्पताल के आईसीयू में भर्ती है, जबकि दूसरा आरोपी जमनाशंकर के बारे में कोई सुराग नहीं मिल पाया. जिसके बाद पुलिस (Police) की टीम मुखबिरों को वहां पर सक्रिय कर वापस आ गई है.

पुलिस (Police) ने बताया कि मानव तस्करी से जुड़े मामले में अब तक की पूछताछ में यह बात सामने आई है कि सिहोरा निवासी अनिल बर्मन छोटी लाइन फाटक स्थित बासू भोजनालय में मैनेजर का काम करता था, जो जनवरी 2020 में राजस्थान (Rajasthan)के कोटा में बूंदी किला घूमने गया था. लॉकडाउन (Lockdown) के समय भी वह कटनी निवासी दोस्त राजू के साथ दूसरी बार बूंदी गया था. जहां चाय की दुकान में उनकी मुलाकात बूंदी निवासी सुरेश सिंह से हुई थी. सुरेश ने अनिल से कहा कि राजस्थान (Rajasthan)में लड़कियों की कमी है. शादी-विवाह के लिए कोई लड़की मिले तो बताना. इसके बदले में तुम्हें पैसे भी मिलेंगे. इसके बाद अनिल जबलपुर (Jabalpur)लौट आया था. तभी से वह पैसों के लालच में इस गोरखधंधे से जुड़ गया था और इस काम में सहयोग के लिए उसने अपनी पत्नी ज्योति बर्मन एवं परसवाड़ा निवासी संतोषी मराठा को भी शामिल कर लिया था. इस मामले में पुलिस (Police) आरोपी अनिल बर्मन, ज्योति बर्मन एवं संतोषी मराठा को गिरफ्तार कर चुकी है, जबकि मानव तस्करी के गिरोह में शामिल दोनों फरार आरोपियों बूंदी राजस्थान (Rajasthan)निवासी सुरेश सिंह ठाकुर एवं ग्राम बलशाखा राजस्थान (Rajasthan)निवासी जमना शंकर को पकड़ने के लिए पुलिस (Police) की टीम राजस्थान (Rajasthan)भेजी गई थी. एएसपी क्राइम गोपाल खांडेल ने बताया कि आईसीयू में भर्ती आरोपी सुरेश के ठीक होने पर उसे गिरफ्तार कर लिया जाएगा. इस संबंध में सहयोग के लिए स्थानीय पुलिस (Police) एवं अस्पताल को सूचना दे दी गई है.

दो युवतियां पहुंचीं थी थाने…………….

गढ़ा क्षेत्र निवासी 28 वर्षीय युवती को अनिल बर्मन, ज्योति बर्मन एवं संतोषी मराठा ने राजस्थान (Rajasthan)ले जाकर सुरेश सिंह व जमना शंकर को 2 लाख 80 हजार रुपए में बेच दिया था. इसी प्रकार ग्वारीघाट थाना क्षेत्र निवासी एक अन्य युवती को भी बेचने के लिए राजस्थान (Rajasthan)ले जाया गया था. आरोपियों के चंगुल से छूटकर वापस शहर पहुंचने पर विगत 11 मार्च को दोनों युवतियों की रिपोर्ट पर थाना मदन महल एवं ग्वारीघाट में सभी आरोपियों के खिलाफ मानव तस्करी सहित अन्य धाराओं के तहत प्रकरण दर्ज किया गया है.

Please share this news