Friday , 16 April 2021

ग्रामीण इलाकों में घंटे भर में पहुंचेगी वैक्सीन

भोपाल (Bhopal) . प्रदेश भर में कोरोना वैक्सीन पहुंचाने के ‎लिए राज्य सरकार (State government) ने पूरी तैयारी कर ली है. इसके लिए प्रदेश भर में कुल 1230 फोकल पाइंट बनाए गए है. शहरों में करीब आधे घंटे में और ग्रामीण इलाकों में आधे से एक घंटे के भीतर कोरोना की वैक्सीन टीकाकरण केंद्र तक पहुंच जाएगी. इसके लिए फोकल पाइंट (जहां वैक्सीन को रखा जाता है) की संख्या बढ़ा दी गई है. प्रदेश में पहले 1190 फोकल पाइंट थे. अब 40 और बढ़ गए हैं. इस तरह से अब कुल 1230 फोकल पाइंट हो गए है. वहीं 12 और पाइंट बढ़ाने की तैयारी है.

इसका मकसद यह है कि दूरस्थ अंचलों में यहां से एक घंटे के भीतर टीकाकरण केन्द्र तक टीका पहुंचाया जा सके. इसके अलावा भारत सरकार से 411 नए आइस इन रेफ्रिजरेटर (आइएलआर) मिले हैं. एक आइएलआर में वैक्सीन के 36,600 डोज रखे जा सकेंगे. प्राप्त जानकारी के अनुसार, वैक्सीन 6 से 7 दिन तक कोल्ड बॉक्स में सुरक्षित रखी जा सकती है. 2 से 8 डिग्री सेंटीग्रेड तापमान होता है आइएलआर का. 20 डिग्री सें. तक तापमान रखा जाता है डीप फ्रीजर में, एक आइएलआर में 90.5 लीटर (36,600 डोज) टीका रखा जा सकेगा, 500 कोल्ड बॉक्स की जरूरत होगी भोपाल (Bhopal) में टीका ले जाने के लिए, 220 कर्मचारियों की ड्यूटी होगी भोपाल (Bhopal) में टीका लगाने के लिए. प्रदेश में सिर्फ भोपाल (Bhopal) में शनिवार (Saturday) को कोरोना टीकाकरण को लेकर रिहर्सल किया गया. तीन केन्द्रों पर रिहर्सल के दौरान मिली कमियों व असली टीकाकरण कार्यक्रम में उन्हें दूर करने को लेकर स्वास्थ्य संचालनालय स्तर पर समीक्षा की जाएगी. इसके बाद पूरे प्रदेश के लिए निर्देश जारी किए जाएंगे. राज्य टीकाकरण अधिकारी डॉ. संतोष शुक्ला ने बताया कि सबसे पहले प्रदेश के करीब चार लाख स्वास्थ्यकर्मियों को टीका लगाया जाना है. इनकी पूरी जानकारी भारत सरकार के विशेष पोर्टल पर अपलोड है.

उन्होंने बताया कि सभी कर्मचारियों के टीकाकरण में पांच से छह दिन लगेंगे. जिला अस्पताल, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र, सिविल अस्पताल समेत कुछ अन्य केन्द्रों में टीका लगाया जाएगा. भोपाल (Bhopal) में 25,400 कर्मचारियों को टीकाकरण के लिए चिन्हित किया गया है. उन्होंने बताया कि यूनिसेफ के सहयोग से आशा और आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को प्रशिक्षित करने के मास्टर ट्रेनर्स (Nurse) को एक दिन दो घंटे के लिए प्रशिक्षण दिया जाएगा. प्रदेश में कोरोना टीकाकरण के लिए कुल 1230 फोकल पाइंट है. प्रदेश में 90,000- वैक्सीन ले जाने वाले कोल्ड बॉक्स हैं.

Please share this news