Tuesday , 13 April 2021

युद्ध स्तर पर की जा रही टीकाकरण की तैयारी, वोटर लिस्ट के हिसाब से तैयार सूची के आधार पर लगेगी वैक्सीन

-वैक्सीनेशन के लिए बनाए गए बूथ, 57 हजार लोगों को दी गई ट्रेनिंग

नई दिल्ली (New Delhi) . कोरोना महामारी (Epidemic) से निपटने के लिए भारत में युद्ध स्तर पर टीकाकरण की तैयारी की जा रही है. एक्सपर्ट कमेटी की ओर से कोविशील्ड और कोवैक्सीन के इमरजेंसी (Emergency) इस्तेमाल को हरी झंडी मिल चुकी है. इस बीच, कोरोना वैक्सीन के स्टोरेज के बाद देश भर में शनिवार (Saturday) से टीकाकरण की प्रक्रिया के लिए ड्राई रन भी शुरू हो चुका है. जल्दी ही देश में टीकाकरण की शुरुआत की जाएगी. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार मतदाता सूची के आधार पर तैयार सूची के माध्यम से वैक्सीनेशन किया जाएगा.

उल्लेखनीय है कि पोलिंग बूथ की तर्ज पर तैयार किए गए वैक्सीन बूथों पर कर्मचारियों को वैक्सीन लागने की ट्रेनिंग दी जा रही है. स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक देश के 719 जिलों में 57 हजार से अधिक लोगों को ट्रेनिंग दी जा चुकी है. को-विन नाम के डिजिटल प्लेटफॉर्म के जरिए लाभार्थियों को ट्रैक किया जाएगा. इस प्लेटफॉर्म पर सभी जानकारी रियल टाइम में अपडेट की जाएंगी. वैक्सीनेशन साइट पर सिर्फ उन्हीं लोगों को टीका लगाया जाएगा जो प्राथमिकता के आधार पर पहले ही रजिस्टर्ड होंगे.

वैक्सीनेशन के लिए रजिस्टर्ड फोन नंबर पर एसएमएस के जरिए जानकारी दे दी जाएगी कि आपको किस समय वैक्सीन बूथ पर पहुंचना है. बता दें कि वैक्सीनेशन ड्राइव के लिए को-विन नाम से एक एप बनाया गया है. जिसके जरिए वैक्सीनेशन के लिए रजिस्ट्रेशन की सुविधा मिलेगी. साथ ही वैक्सीनेशन के बाद ई-सर्टिफेकेट भी दिया जाएगा.

जिसमें ऑब्जर्वेशन रूम वह जगह होगी, जहां टीका लगवाने के बाद लाभार्थी को 30 मिनट इंतजार करना होगा. इस कमरे में पीने के पानी और टॉयलेट की सुविधा भी रहेगी. टीकाकरण यानी वैक्सीनेशन के बाद 30 मिनट निगरानी में रहना होगा, जिससे देखा जा सके कि कोई प्रभाव तो नहीं पड़ा. उल्लेखनीय है कि देश भर के राज्यों में वैक्सीन के स्टोरेज, वितरण और टीकाकरण को लेकर मास्टर प्लान तैयार है. जिसमें कोल्ड चेन, स्टोरेज प्वाइंट जैसे बंदोबस्त किए जा चुके हैं. कोरोना वैक्सीन के लिए कोल्ड चेन को पल्स पोलियो वैक्सीन के लिए बनाई गई कोल्ड चेन की तर्ज पर तैयार किया गया है. जबकि वैक्सीन बूथों को वोटिंग बूथ की तर्ज पर बनाया गया है.

स्वास्थ्य विभाग वैसे तो सभी देशवासियों के लिए टीका उपलब्ध कराएगा, लेकिन सबसे पहले 30 करोड़ लोगों को टीका लगाया जाएगा. प्राथमिकता के आधार पर सबसे पहले स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं, अग्रिम पंक्ति के लोगों और वरिष्ठ नागरिकों को वैक्‍सीन देने की तैयारी की गई है. पोलिंग बूथ के आधार पर वैक्सीन बूथ बनाकर वैक्सीनेशन किया जाएगा.

Please share this news