Friday , 30 October 2020

चंबल हादसे में दो और शवों को नदी से बाहर निकाला


कोटा . राजस्थान (Rajasthan) के कोटा जिले में हुई हृदय विचारक घटना में गुरुवार (Thursday) को भी सर्च अभियान जारी है. सुबह से ही एसडीआरएफ की टीमें चंबल नदी में लापता लोगों की तलाश जुटी हुई है. सर्च अभियान के तहत टीम में दो और लोगों के शवों को नदी से बाहर निकाल लिया है, जिसके चलते नाव डूबने से हुई मौत का आंकडा 13 हो गया है. वहीं अभी भी बाकी लोगों की तलाश जारी है. कोटा संभागीय आयुक्त केसी मीणा ने मामले की प्राथमिक जांच की जानकारी देते हुए कहा कि हादसे का कारण नाव में क्षमता से ज्यादा भार था. नाव में कुल 32 लोग सवार थे. और 14 मोटरसाइकिल सवार थी. इसलिए नाव असंतुलित होकर डूब गई.

प्रदेश के कोटा में इतनी बड़ी लापरवाही पर पहले जहां इस मामले में जिम्मेदार अधिकारियों के खिलाफ सख्त एक्शन लेते हुए परिवहन विभाग के मोटर व्हीकल इंस्पेक्टर, खतौली थाना अधिकारी, क्षेत्रीय हल्का पटवारी और ग्राम सेवक को भी एपीओ किया गया था. वहीं अब इस मामले में नाव मालिक व 4 अन्य पर गैरइरादतन हत्या (Murder) का मामला दर्ज कर लिया गया है. इस मामले के सामने आने के बाद मुख्यमंत्री (Chief Minister) अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) के ओर से सभी मृतक आश्रितों के परिवार वालों को तत्काल एक-एक लाख सहायता राशि दी गई है. इस तरह के हादसे फिर दोबारा ना हो इस दिशा में भी जिला प्रशासन ठोस कदम उठा रहा है.