Friday , 16 April 2021

बैंक, बीमा, शिक्षा सहित कई क्षेत्रों में होंगे आज से बदलाव

भोपाल (Bhopal) . नए साल में आज से बैंक, बीमा, जीएसटी, टेलीफोन, शिक्षा, ऑटोमोबाइल स‎हित कई क्षेत्रों में बदलाव होंगे. यह बदलाव आम लोगों की जिंदगी से जुड़े हुए काफी महत्वपूर्ण हैं. एक जनवरी से प्रदेश के सभी निजी एवं शासकीय कॉलेज भी खुल जाएंगे. दूसरी ओर संपत्तियों की रजिस्ट्री कराने पर मिल रही दो फीसद की छूट मिलना बंद हो जाएगी. बैंकों से जुड़े कई बदलाव भी होंगे. चेक भुगतान की व्यवस्था बदलेगी. 50 हजार रुपये या इससे अधिक भुगतान पर कुछ जरूरी जानकारियों को दोबारा कंफर्म करना होगा. जब बैंक (Bank) दी गई जानकारियों को जांचेगा, तभी चेक क्लीयर होगा. इसके अलावा जीएसटी में भी कुछ बदलाव होंगे. प्रदेश में सभी शासकीय और अशासकीय कॉलेज शुक्रवार (Friday) से खुल जाएंगे. पहले दस दिन प्रैक्टिकल के लिए कक्षाएं लगाई जाएंगी. इसके बाद स्नातक अंतिम वर्ष और स्नातकोत्तर तृतीय सेमेस्टर की कक्षाएं शुरू हो जाएंगी. इसके बाद सभी कक्षाएं 20 जनवरी के बाद से 50 फीसद विद्यार्थियों के साथ शुरू की जाएंगी. एक दिन छोड़कर भी कक्षाएं शुरू की जा सकती हैं.

राजधानी के सीबीएसई स्कूल तीन जनवरी से शुरू होंगे. नवमीं से 12वीं तक की कक्षाएं खोली जाएंगी. इस दौरान कोरोना संक्रमण से बचाव के सभी जरूरी सावधानी बरती जाएगी. वहीं कई निजी स्कूलों की बसें भी संचालित की जा रही हैं. सरकारी स्कूलों के छठवीं से आठवीं तक के विद्यार्थियों के लिए पाठ्यपुस्तक पर आधारित शिक्षण व्यवस्था के लिए मप्र दूरदर्शन पर सुबह 11 से दोपहर 12.30 बजे तक टीवी कक्षा का प्रसारण चार जनवरी से किया जाएगा. प्रदेश सरकार ने कोरोना संक्रमण काल में मंदी की मार झेल रहे रियल स्टेट कारोबार को उबारने के लिए भोपाल (Bhopal) सहित प्रदेशभर के शहरी क्षेत्रों की संपत्तियों (जमीन, मकान, प्लॉट व फ्लैट) की रजिस्ट्रियों पर दो प्रतिशत नगरीय निकाय शुल्क की छूट दी थी. इसकी समयसीमा 31 दिसंबर यानी गुरुवार (Thursday) को खत्म हो गई है. अब रजिस्ट्री के लिए 10.5 प्रतिशत स्टांप शुल्क ही देना होगा. नगरीय निकाय शुल्क भी तीन फीसद चुकाना होगा. नगर निगम द्वारा बकाया कर जमा करने के लिए 31 दिसंबर को दी जाने वाली विशेष छूट खत्म हो गई है. यह छूट भी संपत्तिकर, जल उपभोक्ता प्रभार, किराया व भू-भाटक के बकाया कर के भुगतान में अधिभार पर दी जा रही थी.

बता दें कि कोरोना संक्रमण काल में कम वसूली व नगर निगम की तंगहाल स्थिति को देखते हुए यह निर्णय लिया गया था. नए साल में कारें महंगी हो जाएंगी. विभिन्न कंपनियों ने दो से पांच फीसद तक बढ़ोतरी होने की बात कही है. ऐसे में कारों के दाम 20 हजार रुपये तक बढ़ सकते हैं.बीमा नियामक ने सभी कंपनियों को सरल जीवन बीमा पॉलिसी लांच करने को कहा है. कोरोना संक्रमण के दौर में शहर में लोग बड़ी संख्या में पॉलिसी ले रहे हैं. औसत 300 पॉलिसी रोज बिक रही है.

Please share this news