Friday , 25 June 2021

देशभर में फैला है इस ठगी गिरोह का नेटवर्क

नोएडा (Noida) . नोएडा (Noida) सेक्टर-49 पुलिस (Police) ने देशभर के हजारों लोगों से करोड़ों रुपये की ठगी करने वाले अंतरराज्यीय साइबर ठग गिरोह का पर्दाफाश कर नेपाली महिला सहित तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है. पुलिस (Police) ने आरोपियों से विदेशी करेंसी सहित अन्य फर्जी दस्तावेज बरामद किए हैं. आरोपी बैंक (Bank) खाते हैक करके जालसाजी करते थे. पुलिस (Police) पूछताछ में खुलासा हुआ है कि गिरोह का नेटवर्क देशभर में फैला है. गिरोह के ठग एनसीआर सहित सभी राज्यों में सक्रिय हैं. गिरोह के मुंबई (Mumbai) में सबसे ज्यादा ठग सक्रिय हैं. पुलिस (Police) इनके फर्जी बैंक (Bank) खातों की डिटेल खंगाल रही है. गिरफ्तार किए गए आरोपी गिरोह में दो साल से काम कर रहे थे.

एडीसीपी रणविजय सिंह ने बताया कि पुलिस (Police) पूछताछ में आरोपियों की पहचान अशोक कुमार यादव निवासी सलेमपुर जिला बलिया वर्तमान पता सेक्टर-78, कमल रबिलाल शर्मा असली नाम केशौराज न्यौपाने निवासी गांव मणिग्राम जिला रूपंदेही नेपाल वर्तमान पता गांव सदरपुर सेक्टर-45 और गीता शर्मा उर्फ गीता छेत्री निवासी गांव रुद्रपुर जिला रूपंदेही नेपाल के रूप में हुई है. आरोपी नेपाल से गरीब लोगों को म्यूजिक कन्सर्ट या किसी अन्य काम के बहाने भारत लेकर आते थे. फिर इनके खाने पीने का खर्चा खुद उठाते थे. इसके बाद इनके दस्तावेजों पर सिम कार्ड और भारत में बैंक (Bank) खाते खुलवाते थे. इसके बाद कुछ पैसे देकर पीड़ितों को वापस नेपाल भेज देते थे. फिर आरोपी पीड़ितों के दस्तावेजों की मदद से लोगों के बैंक (Bank) खाते हैक करके रुपये फर्जी खातों में ट्रांसफर करते थे. पुलिस (Police) के हत्थे चढ़े नेपाल के दोनों आरोपी नाम बदलकर भारत में रह रहे थे.

आरोपी केशोराज ने अपना फर्जी नाम कमल रबिलाल शर्मा रखा था जबकि आरोपिता गीता छेत्री फर्जी नाम गीता शर्मा के नाम से भारत में रहती थी. पुलिस (Police) ने आरोपियों से 11 मोबाइल, बैक ऑफ अमेरिका का चेक, दुबई मेट्रो का ट्रेवलिंग कार्ड, विदेश भेजने से संबंधित पांच दस्तावेज, 18 फर्जी आधार कार्ड, 18 फर्जी पैन कार्ड, 21 चेक बुक, सात पासपोर्ट, दो घरेलू गैस कार्ड, सात दिल्ली मेट्रो ट्रेवलिंग कार्ड, चार एटीएम कार्ड, दो भारतीय वोटर आईडी कार्ड, तीन नेपाली नागरिकता प्रमाणपत्र, दो पास बुक, तीन डायरी, सात रजिस्टर, एक लैपटॉप, एक मुहर, एक इंटरनेट डोंगल, एक हार्ड डिस्क, नेपाली करेंसी, कंबोडिया की करेंसी, 19 सिम कवर, तीन नए सिम कार्ड, एक नेपाली सिम कार्ड और लोगों के 25 पासपोर्ट साइज फोटो बरामद किए हैं. आरोपी अशोक ने अपने साथियों की मदद से तमिलनाडु (Tamil Nadu) में एक व्यक्ति की ई-मेल आईडी हैक करके और राजस्थान (Rajasthan)में एक व्यापारी का अकाउंट हैक कर उनके खाते से 82 लाख रुपये निकाल लिए थे. इस संबंध में राजस्थान (Rajasthan)व तमिलनाडु (Tamil Nadu) पुलिस (Police) से संपर्क कर जानकारी जुटाई जा रही है.

Please share this news