Friday , 16 April 2021

मुख्यमंत्री बघेल से मिले बस्तर के विधायक, नगरनार इस्पात संयंत्र खरीदने के फैसले पर आभार

रायपुर (Raipur). मुख्यमंत्री (Chief Minister) भूपेश बघेल से उनके निवास कार्यालय में उद्योग मंत्री कवासी लखमा के नेतृत्व में बस्तर अंचल एवं अन्य इलाकों के विधायकों एवं जनप्रतिनिधियों के प्रतिनिधि मंडल ने सौजन्य मुलाकात की. प्रतिनिधि मंडल ने बस्तर के नगरनार स्थित इस्पात संयंत्र को आदिवासियों के हितों की रक्षा के लिए राज्य सरकार (State government) द्वारा खरीदने के निर्णय के लिए मुख्यमंत्री (Chief Minister) का आभार जताया.

उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री (Chief Minister) बघेल ने 28 दिसम्बर को शीतकालीन सत्र के दौरान विधानसभा में कहा था कि भारत सरकार के उपक्रम एनएमडीसी के स्थापनाधीन नगरनार इस्पात संयंत्र का केन्द्र सरकार निजीकरण करना चाहती है तो छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) सरकार इस संयंत्र को खरीदने के लिए तैयार है. उन्होंने यह भी कहा था कि बस्तर के आदिवासियों की यह भावना है कि नगरनार इस्पात संयंत्र निजी हाथों में नहीं जाना चाहिए. मुख्यमंत्री (Chief Minister) ने यह भी कहा था कि यह केवल बस्तर की भावना नहीं बल्कि छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) की अस्मिता से जुड़ा मामला है. इसलिए यदि इस्पात संयंत्र का निजीकरण हुआ तो छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) सरकार इसको खरीदने के लिए तैयार है.

मुख्यमंत्री (Chief Minister) ने प्रतिनिधि मंडल को आश्वस्त किया कि छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) सरकार बस्तर अंचल में रोजगार सृजन के अवसर को बढ़ाने के लिए प्रतिबद्ध है. बस्तर में उद्योगों की स्थापना से स्थानीय युवाओं को रोजगार से जोडऩे और रोजी-रोजगार की तलाश में अन्य राज्यों में जाने से रोकने में मदद मिलेगी. इस अवसर पर संसदीय सचिव शिशुपाल सोरी, जगदलपुर विधायक रेखचन्द जैन, चित्रकोट विधायक राजमन बेंजाम, केशकाल विधायक संतकुमार नेताम, दंतेवाड़ा विधायक श्रीमती देवती कर्मा, अंतागढ़ विधायक अनूप नाग, नगरी सिहावा विधायक डॉ. लक्ष्मी ध्रुव, मनेन्द्रगढ़ विधायक डॉ. विनय जायसवाल, भरतपुर (Bharatpur) -सोनहत विधायक गुलाब कमरो, क्रेडा अध्यक्ष मिथिलेश स्वर्णकार सहित सत्तार अली एवं अवधेश गौतम उपस्थित थे.

Please share this news