Thursday , 25 February 2021

सुशांत केस एम्स ने सीबीआई को सौंपी रिपोर्ट

नई दिल्ली (New Delhi) . पिछले दिनों बताया गया था कि एम्स की फॉरेंसिक टीम ने सुशांत की मौत में जहर की जांच के लिए विसरा टेस्ट किया था. इससे पहले CBIने सुशांत सिंह राजपूत के मुंबई (Mumbai) स्थित घर पर फॉरेंसिक जांच और आगे की जांच के लिए दिल्ली एम्स से तीन सदस्यीय डॉक्टरों (Doctors) की एक विशेष टीम बुलाई थी. बता दें कि इससे पहले डॉ. सुधीर गुप्ता के नेतृत्व वाली एम्स की फॉरेंसिक टीम ने शीना बोरा मामले और सुनंदा पुष्कर मामले जैसे कई हाई प्रोफाइल मामलों में अपनी चिकित्सकीय-कानूनी राय पेश की थी.

सुशांत के विसरा जांच में सैंपल का परीक्षण करने के लिए एम्फ़ैटेमिन, कैनबिस, ओपियोड, कोकीन, हेरोइन आदि ड्रग का भी टेस्ट किया गया है. इन ड्रग के सैंपल टेस्ट से यह पता चल जाएगा कि क्या सुशांत सिंह राजपूत ने वास्तव में इनमें से किसी भी ड्रग्स का सेवन किया है या नहीं. दरअसल, किसी भी इंसान की मौत हो जाने के बाद अगर पुलिस (Police) शव का पोस्टमार्टम कराती है, तो इस दौरान मरने वाले के शरीर से विसरल पार्ट यानि आंत, दिल, किडनी, लीवर आदि अंगों का सैंपल लिया जाता है, उसे ही विसरा कहा जाता है.

अगर किसी शख्स की मौत संदिग्ध हालात में होती है, उसकी मौत के पीछे पुलिस (Police) या परिवार को किसी भी तरह के ड्रग या जहर का शक होता है, तो ऐसे मामलों में मौत की वजह जानने के लिए विसरा की जांच की जाती है. गौरतलब है कि सुशांत सिंह राजपूत 14 जून को मुंबई (Mumbai) के बांद्रा में स्थित अपने घर में मृत पाए गए थे. सुशांत सिंह के अंतिम पोस्टमार्टम रिपोर्ट में पता चला था कि उनके शरीर पर किसी भी तरह के चोट निशान नहीं मिले थे. हालांकि, बाद में सुशांत के परिवार की ओर से एफआईआर (First Information Report) कराए जाने के बाद से मामले ने तूल पकड़ लिया और अब इसकी तीन एजेंसियां जांच कर रही हैं.

Please share this news